लाकडाउन के बीच RBI ने रद्द किया इस बैंक का लाइसेंस, लाखों खाताधारकों के पैसे अटके!

Share and Spread the love

भारतीय रिजर्व बैंक ने सीकेपी सहकारी बैंक के ग्राहकों को झटका देते हुए बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया है. मनीकंट्रोल के मुताबिक इसकी वजह से बैंक के सवा लाख खाताधारकों पर संकट खड़ा हो गया. इसके अलावा बैंक की 485 करोड़ रुपये की एफडी अधर में लटक गई है.
आरबीआई साल 2014 से ही लगातार बैंक के प्रतिबंध की अवधि को बढ़ाने का काम कर रहा है. इसके पहले 31 मार्च को अवधि बढ़ाकर 31 मई कर दी गई थी. मनीकंट्रोल के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सीकेपी सहकारी बैंक की नेटवर्थ में गिरावट इसके लाइसेंस रद्द करने का कारण बनी है.

आपरेशनल मुनाफा होने के बावजूद नेटवर्थ में गिरावट होने के कारण बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है. इसका मुख्यालय मुंबई के दादर में हैं, महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक बैंक का घाटा बढ़ने और नेट वर्थ में बड़ी गिरावट आने के कारण बैंक के लेन-देन पर साल 2014 को ही प्रतिबंध लगा दिया गया था.
इसके बाद कई बार बैंक का घाटा कम करने का प्रयास किया. इसके लिए निवेशकों और जमाकर्ताओं ने भी प्रयत्न किया था इस दौरान उन्होंने भी ब्याज दर में कटौती की थी. कुछ लोगों ने अपने एफडी को शेयर में निवेश किया था,कुछ हद तक इसके परिणाम में दिखाई देने लगे थे. बैंक का घाटा कम हो रहा था, परंतु ऐसे में आरबीआई ने सीकेपी बैंक का लाइसेंस रद्द करके निवेशकों को बड़ा झटका दिया है.
The post लाकडाउन के बीच RBI ने रद्द किया इस बैंक का लाइसेंस, लाखों खाताधारकों के पैसे अटके! appeared first on AKHBAAR TIMES.