प्रवासी मजदूरों के बिहार लौटने की व्यवस्था पर लालू यादव का कटाक्ष, छोटे भाई टोटल कन्फ्यूजिया गए

Share and Spread the love

बिहार के प्रवासी मजदूरों की घर वापसी को लेकर विपक्ष की ओर से सरकार पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है. राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर रखा है. राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने प्रवासी मजदूरों के अपने प्रदेश लौटने की व्यवस्था में विफल रहने का आरोप बिहार सरकार पर लगाया है.
गौरतलब है कि बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बीते गुरुवार को प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए केंद्र सरकार से विशेष ट्रेन चलाने की मांग की थी. जिसके बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने 2000 बसों का इंतजाम करने का ऑफर दिया था.
वहीं लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि लॉकडाउन 2.0 शुरू होने पर आज से 16 रोज पहले सरकार से ट्रेन चलाने की मांग की थी, लेकिन छोटे भाई(नीतीश) टोटल कन्फ्यूजिया गए हैं. न वेंटीलेटर, न बस, न रेल, उनका बेमल जोड़-तोड़ का रेलपेल.
लालू यादव ने अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव के 15 अप्रैल के एक बयान को साझा किया. जिसमें तेजस्वी ने कहा था कि आदरणीय नीतीश जी, आप वरिष्ठ नेता हैं. जब उत्तराखंड में फंसे हजारों गुजरातियों को डिलक्स बस में विशेष इंतजाम करके अहमदाबाद ले जाया जा सकता है, तो गरीब बिहारियों को 21 दिनों बाद भी साधारण ट्रेन वापस क्यों नहीं लाया जा सकता? कृपया केंद्र से बात कर गरीबों के लिए कोई रास्ता निकालिए.
The post प्रवासी मजदूरों के बिहार लौटने की व्यवस्था पर लालू यादव का कटाक्ष, छोटे भाई टोटल कन्फ्यूजिया गए appeared first on AKHBAAR TIMES.