शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता रद्द करने की याचिका वापस, सपा में वापसी की तैयारी!

Share and Spread the love

विधानसभा अध्यक्ष ह्दय नारायण दीक्षित ने समाजवादी पार्टी द्धारा शिवपाल सिंह की विधानसभा सदस्यता रद्द करने के लिए दायर की गई याचिका को वापस लेने की इजाजत दे दी है. नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी की ओर से समाजवादी पार्टी के तरफ से पिछले दिनों में ही विधानसभा अध्यक्ष से याचिका को वापस लेने का आग्रह किय था.
विधानसभा अध्यक्ष ने इसको लेकर गुरुवार को मंजूरी दे दी. इसको लेकर अब यूपी के सबसे बड़े सियासी परिवार में एका के कयास लगाए जा रहे हैं. समाजवादी पार्टी की ओर से 4 सितंबर 2019 को शिवपाल की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की याचिका को दायर किया था.
विधानसभा अध्यक्ष की ओर से कहा गया कि याचिका का परीक्षण किया ही जा रहा था कि इसी बीच नेता प्रतिपक्ष के ओर रामगोविंद चौधरी ने 23 मार्च 2020 को ये कहते हुए कि याचिका को प्रस्तुत करते समय कुछ महत्वपूर्ण अभिलेख और साक्ष्य संलग्न नहीं किए जा सके थे. इसको देखते हुए उन्हें याचिका को वापस लेने की अनमुति प्रदान की जाए.

2017 विधानसभा चुनाव के पहले मुलायम परिवार में खटपट के बाद अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह यादव के रुप में दो केंद्रबिंदु बन गए हैं. इस सबके बावजूद वो सपा से ही चुनाव लडे और चुनाव जीते भी. लेकिन इसके बाद पार्टी में इतनी खटपट बढ़ गई कि शिवपाल ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन कर लिया.
उन्होंने साल 2019 के लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार भी उतारे थे. भले ही नेता प्रतिपक्ष की ओर से याचाका वापस लेने का कारण कुछ और ही बताया जा रहा हो. लेकिन हाल के ही दिनों में अखिलेश यादव ने भी समाजवादियों के एक होने की बात को स्वीकारा था. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव के अस्वस्थ्य होने पर परिवार के सदस्य कई बार एक साथ बैठे तब भी इस बारे में ही बातचीत हुई.
The post शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता रद्द करने की याचिका वापस, सपा में वापसी की तैयारी! appeared first on AKHBAAR TIMES.