वापस लौट रहे श्रमिकों को ‘प्रवासी’ कहे जाने पर नीतीश कुमार ने जताया एतराज, कहा ये अच्छी बात नहीं

Share and Spread the love

कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में काम करने वाले श्रमिक वापस बिहार लौटे हैं. इन श्रमिकों को प्रवासी कहे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एतराज जताया है. अपनी ये आपत्ति उन्होंने बिहार के पंचायतों और जिला परिषद् के जनप्रतिनिधियों के साथ बात करते समय व्यक्त की.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन श्रमिकों को लेकर कहा कि जब यह देश एक है और लोग एक जगह से दूसरी जगह सेवा करने गए हैं तो यह अच्छी बात नहीं है कि जब बिहार के बाहर से लोग वापस आए तो उन्हें प्रवासी कहा जाए.
उन्होंने कहा कि जब वो देश के बाहर जाए तो उन्हें आप प्रवासी कह सकते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश ने आगे कहा कि उन्हें इन सबके साथ जो बाहर के राज्यों में हुआ, उससे कष्ट हुआ है. उन्होंने कहा कि जब वे वहां काम करने के लिए गए हैं उनकी देखभाल की जिम्मेदारी भी उनके ऊपर आती है, इसलिए अब उनकी कोशिश होगी कि इन श्रमिकों को मजबूरी में कहीं काम के लिए न जाना पड़े.
मुख्यमंत्री नीतीश ने टेस्टिंग की क्षमता दस हजार तक बढ़ाने का लक्ष्य रखने की बात कही. हालांकि ऐसा वह इससे पहले भी कह चुके हैं लेकिन यह क्षमता बढ़ नहीं पायी है. इस बैठक उन्होंने ये माना कि राज्य में सबसे ज्यादा संक्रमित वही लोग हैं जो बाहर से आए हैं.
The post वापस लौट रहे श्रमिकों को ‘प्रवासी’ कहे जाने पर नीतीश कुमार ने जताया एतराज, कहा ये अच्छी बात नहीं appeared first on AKHBAAR TIMES.