अखिलेश यादव बोले, जनहित के मुद्दों पर ध्यान दे सरकार, कब तक जुमलों और तुकबंदी के सहारे चलेगा देश

Share and Spread the love

Image credit- social mediaसमाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि सरकार कोरोना संकट के नाम पर मानवीय संवेदनाओं से दूर होती जा रही है. आखिर कब तक जनहित के मुद्दों से दूर जुमलों और तुकबंदी के सहारे देश चलेगा.
अखिलेश यादव ने कहा कि किसान जो प्रदेश की अर्थव्यवस्था और विकास में सबसे ज्यादा योगदान देता है, उसकी उपेक्षा की जा रही है. उसकी परेशानियों से मुंह मोड़ रही सरकार ने उसको राहत देने का काम भी रोक दिया है. कहीं ओलावृष्टि तो कहीं अनावृष्टि और कहीं आंधी, तूफान के चलते गेहूं की फसल बर्बाद हो गई है. किसान को भारी नुकसान हुआ है. किसान पहले से ही कर्ज और खाद, कीटनाशक, बिजली की बढ़ी कीमतों से परेशान था अब तो वो अवसाद में है.

उन्होंने कहा कि दरअसल भाजपा सरकार की नीतियां पूंजी घरानों की पोषक रही है. गांव-किसान कभी उसकी प्राथमिकता में नहीं रहे हैं. उसकी नीति और नीयत दोनों कारपोरेट के संरक्षण की रहती है. उत्तर प्रदेश में जहां खेतों में बर्बादी का मातम पसरा है, वहीं भाजपा सरकार मयखाने खुलवा रही है.
सपा मुखिया ने कहा कि मिड-डे मील योजना दुबारा शुरू करने में देरी क्यों, भाजपा सरकार ने इस योजना को एक महीने पहले क्यों नहीं शुरू किया. अगर एक महीना पहले इस योजना को शुरू किया जाता तो कई गरीब मजदूर परिवार इसका लाभ उठा पाते. भूख से बिलख रहे गरीब परिवारों के बच्चों के प्रति सरकार इतनी असंवेदनशील कैसे हो सकती है.
अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसे तमाम जनहित के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सत्तापक्ष के साथ दोनों सदनों के नेता प्रतिपक्ष को भी बैठकों में आमंत्रित करना चाहिए. इससे लोकतांत्रिक प्रणाली को सुचारू और सुदृढ़ करने में सकारात्मक सहयोग मिलेगा.
The post अखिलेश यादव बोले, जनहित के मुद्दों पर ध्यान दे सरकार, कब तक जुमलों और तुकबंदी के सहारे चलेगा देश appeared first on AKHBAAR TIMES.