पिछड़े वर्ग के लोगों को इस योजना से हटाने पर भड़के अखिलेश यादव, सरकार से की ये मांग

Share and Spread the love

Image credit- social mediaसमाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य की योगी सरकार से मांग करते हुए कहा है कि वो आईएएस-पीसीएस प्रारम्भिक परीक्षा में सफल हुए अनुसूचित जाति तथा सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा हेतु उत्कृष्ट कोटि के कोचिंग केन्दों के माध्यम से परीक्षा पूर्व कोचिंग दिए जाने की योजना सम्बंधी प्रमुख सचिव, उ0प्र0 शासन द्वारा 27 अप्रैल 2020 को दिशा-निर्देश जारी किए है इसमें पिछड़े वर्ग का कोई उल्लेख नहीं है. यह शासन द्वारा पिछड़े वर्गों के साथ सरासर अन्याय है. सपा मुखिया अखिलेश यादव की मांग है कि पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को भी इसमें शामिल किया जाए.
इसके अलावा अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग इलाहाबाद द्वारा 21 अप्रैल 2020 को विज्ञप्ति जारी कर प्रदेश में उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवाओं की भर्ती हेतु अभ्यर्थियों से 20 मई 2020 तक आवेदन करने हेतु जारी की गई है. आवेदन ऑनलाइन करना है. पिछड़े वर्ग के इच्छुक युवाओं के समक्ष पिछड़ा वर्ग जाति प्रमाण पत्र की प्रति आवेदन के साथ आयोग को भेजना होगा.
Image credit- social mediaउन्होंने कहा कि प्रचलित नियमों के अनुसार पिछड़ी जाति प्रमाण पत्र प्रत्येक वित्तीय वर्ष में सम्बन्धित युवा को रिनीवल कराना होता है. उनके प्रमाण पत्र लॉकडाउन के कारण 31 मार्च 2020 के पश्चात् प्रमाण पत्र पुनः नहीं बन पा रहे. ऐसी दशा में पिछड़े वर्ग के इच्छुक प्रतिभागी आवेदन करने से वंचित रह जायेंगे.
अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी की मांग है कि ऑनलाइन आवेदन की तिथि लॉकडाउन समाप्त होने की तिथि के बाद 20 मई 2020 की तिथि आगे बढायें. अथवा गत वर्ष अर्थात् 31 मार्च 2020 के पहले जो जारी हुए हो, उनको मान्य किया जाय.
The post पिछड़े वर्ग के लोगों को इस योजना से हटाने पर भड़के अखिलेश यादव, सरकार से की ये मांग appeared first on AKHBAAR TIMES.