2014 चुनाव में PM मोदी द्वारा रैली में इस्तेमाल की गयी इस तकनीक के मुरीद हुए ऑस्ट्रेलियाई पीएम

Share and Spread the love

बिहार में विधानसभा चुनाव इसी साल के अंत तक होने हैं. कोरोना संकटकाल में चुनाव प्रचार बड़े स्तर पर कर पाना राजनीतिक दलों के लिए मुश्किल नजर आ रहा है. ऐसे समय में जब सोशल डिस्टेंसिंग की बात कही जा रही है तो बड़ी-बड़ी रैलियां हो पाना संभव नहीं है. इसी के मद्देनजर भाजपा 7 जून को बिहार में वर्चुअल रैली करने जा रही है.
भाजपा के इस डिजिटल वाले चुनाव प्रचार को लेकर विपक्ष जमकर निशाना साध रहा है. लेकिन साल 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैलियों में जिस तकनीक का इस्तेमाल किया था उसकी तारीफ ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने की है.
होलोग्राम तकनीकी 
साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार के आखिर में एक साथ कई जगहों पर रैलियां करने के लिए होलोग्राम तकनीकी का इस्तेमाल किया था. जिसमें एक जगह से कई रैलियों को संबोधित किया जाता था. इस तकनीकी में 3डी का इस्तेमाल भी होता है, जिससे ऐसा लगता था कि पीएम मोदी साक्षात मंच पर खड़े हो और भाषण दे रहे हैं.
गुरुवार को जब भारत-ऑस्ट्रेलिया शिखर सम्मलेन के दौरान समोसा और खिचड़ी केंद्र रही तो वहीं होलोग्राम तकनीकी पर भी बात हुई. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने कहा कि यह मुझे चौंकाता नहीं है कि इन परिस्थितिओं में हम किस तरह से मिलना जारी रखेंगे.
उन्होंने आगे कहा कि आप उनमें से हैं, जिन्होंने होलोग्राम तकनीक का अपने चुनाव प्रचार में कई साल पहले इस्तेमाल किया था. हो सकता है कि अगली बार हमारे पास यहां आपका एक होलोग्राम होगा.
The post 2014 चुनाव में PM मोदी द्वारा रैली में इस्तेमाल की गयी इस तकनीक के मुरीद हुए ऑस्ट्रेलियाई पीएम appeared first on AKHBAAR TIMES.