कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान पारले जी ने की रिकार्ड बिक्री, ये रही वजह

Share and Spread the love

कोरोना संकट के चलते लॉकडाउन की वजह से जब प्रवासी मजदूर और गरीबों के आगे खाने का संकट आया तो देश की स्वयंसेवी संस्थाओं, एनजीओ, आम जनता, राजनैतिक दलों ने आगे बढ़कर लोगों की मदद करनी शुरू कर दी.
इस दौरान सभी ने अपनी क्षमता के मुताबिक लोगों को खाने-पीने का सामान मुहैया कराया. इसी के चलते पारले जी बिस्कुट ने अप्रैल और मई के महीने में बिक्री का नया रिकार्ड बना दिया. पारले प्रोडक्ट के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना के दौरान एनजीओ और सरकारी एजेंसियों ने लोगों को बांटने के लिए पारले जी बिस्कुट को तरजीह दी है.

उन्होंने कहा कि ये सस्ता और ग्लूकोज का अच्छा स्त्रोत है इसलिए बांटने वालों की ये पहली पसंद बना और हमने रिकार्ड बिक्री की. पारले के अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान पारले की बाजार में हिस्सेदारी में 4.5 प्रतिशत का उछाल आया. उन्होंने कहा कि ऐसा तो बीते 30-40 सालों के दौरान नहीं हुआ जैसा अब हुआ है.
हालांकि उन्होंने कहा कि सुनामी और भूकंप जैसे हादसों के दौरान भी पारले जी की बिक्री में इजाफा हो जाता है. बता दें कि कोरोना संकट में एक तरफ जहां हर सामान की मांग अपने निचले स्तर पर थी उसी दौरान कुछ वस्तुएं ऐसी भी थी जिनकी बिक्री ने अब तक के सारे रिकार्ड तोड़ दिए. इसमें से एक पारले जी भी है.

The post कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान पारले जी ने की रिकार्ड बिक्री, ये रही वजह appeared first on AKHBAAR TIMES.