टूटी गढ्ढ़ेदार सड़कों का सपाइयों ने अनोखे ढंग से किया विरोध, सड़कों पर छोड़ी नाव

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कानपुर शहर की टूटी और गढ्ढ़ेदार सड़कों की समस्याओं को लेकर गांधीवादी तरीके से विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने गढ्ढ़ा मुक्त सड़कों की बात कही थी मगर उनकी बात न तो नगर निगम और न ही कैंट बोर्ड ने सुनी. आम जनता परेशान हो रही है.
समाजवादी पार्टी व्यापार सभा के निवर्तमान प्रदेश उपाध्यक्ष और व्यापारी नेता अभिमन्यु गुप्ता के नेतृत्व में सपाइयों ने सड़कों पर हुए गढ्ढ़ों में नाव छोड़ी. इस मौके पर उन्होंने अपने साथियों के साथ नाव छोड़ते हुए कहा कि कानपुर की मुख्य सड़कें अब गढ्ढेदार सड़कें बन चुकी हैं और शुरूआती बरसात के बाद पूरे कानपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के भाजपा सरकार के सभी दावों की पोल खुल चुकी है.
अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि भाजपा संगठन जगह जगह उपलब्धियों के पर्चे बांट रहे हैं जबकि उनको असल में घर घर जाकर सरकार की विफलताओं के लिए माफी माँगनी चाहिये. उन्होंने कहा कि आज कानपुर की सड़कें गढ्ढेदार जानलेवा बन चुकी हैं जिसकी वजह से हर तरफ त्राहि त्राहि है.

उन्होंने कहा कि पनचक्की चौराहे के पास ये सड़क बहुत संवेदनशील है क्योंकि व्यापारी, मज़दूर के अलावा कई स्कूल के हज़ारों बच्चे इस रोड का इस्तेमाल करते हैं. एक बरसात ने सरकार के दावों की पोल खोल दी है. हमारे टैक्स के पैसे को विकास कार्यों में तो लगाया ही नहीं जा रहा है. ऐसे खस्ताहाल टूटी सड़कों पर कैसे व्यापार होगा, कैसे ग्राहक आएगा, कैसे माल आएगा, कैसे हमारे बच्चे हमारे परिजन निकलेंगे, कैसे हम गाड़ी चलाएंगे, कैसे जीवनयापन हो ऐसी सड़कों पर.
सपा नेता ने कहा कि सरकार समाजवादियों को प्रदर्शन करने के लिए मजबुर न करे. व्यापारियों ने नारेबाजी भी की जिसका की आनेजाने वालों ने तालियां बजाकर समर्थन किया. अभिमन्यु गुप्ता ने कैंट बोर्ड व नगर निगम से तत्काल कानपुर की गढ्ढेदार सड़कों के पक्के निर्माण की मांग रखी.
इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए समाजवादी मास्क पहनकर, हाथों में तख्तियां लिए हुए, नांव पानी में छोड़ रहे थे. इस मौके पर अभिमन्यु गुप्ता के अलावा सहज प्रीत सिंह, यशु गुप्ता, रवि सोनी, संदीप सोनी, राहुल सविता थे.
The post टूटी गढ्ढ़ेदार सड़कों का सपाइयों ने अनोखे ढंग से किया विरोध, सड़कों पर छोड़ी नाव appeared first on AKHBAAR TIMES.