अखाड़ा परिषद का बड़ा बयान, कहा देश को जरूरत पड़ी तो बार्डर पर जाएंगे नागा सन्यासी

Share and Spread the love

लद्दाख की गलवां घाटी में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद देश में गम और गुस्से का माहौल है. हर तरफ से एक ही मांग उठ रही है कि चीन को उसी की भाषा में जवाब दिया जाए.
साधु-संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अगर चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आया और देश को जरूरत पड़ी तो नागा साधु बार्डर पर जाएंगे.

महंत गिरी ने कहा कि हमारी सेनाएं अपने देश की सीमाओं की रक्षा करने और चीन को जवाब देने में सक्षम हैं. इसके बावजूद भी अगर जरूरत पड़ी तो नागा सन्यासी सीमाओं की ओर कूच कर देंगे. उन्होंने कहा कि हम शहीदों की आत्मा की शांति के लिए हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं.
महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि देश की सेनाओं के हौसले पूरी तरह बुलंद हैं. पीएम मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है. हमारी बढ़ती ताकत को देखकर चीन पूरी तरह बौखला गया है. वो हमें विश्वगुरू बनते नहीं देख पा रहा है. इसलिए सीमा पर ऐसी हरकतें कर रहा है.
The post अखाड़ा परिषद का बड़ा बयान, कहा देश को जरूरत पड़ी तो बार्डर पर जाएंगे नागा सन्यासी appeared first on AKHBAAR TIMES.