मणिपुर में क्या मुरझा जाएगा ‘कमल’, जानें क्या बन रहे हैं समीकरण?

Share and Spread the love

भारतीय जनता पार्टी के हाथ से मणिपुर निकलता दिख रहा है. चार मंत्रियों और तीन बीजेपी विधायकों के इस्तीफे के बाद एन बिरेन सिंह की सरकार पर संकट है. उधर कांग्रेस ने अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की अपील की है.
राज्यपाल से मुलाकात के बाद एनपीपी प्रमुख थांगमिलेन किपगेन ने कहा है कि एन बिरेन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए हमने राज्यपाल से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का अनुरोध किया है.
किपगेन ने बताया कि इबोबी सिंह के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए नवगठित सेक्युलर प्रोग्रेसिव फ्रंट को आमंत्रित करने की गुजारिश की है. कांग्रेस, एनपीपी, तृणमूल कांग्रेस और निर्दलीय विधायकों समेत एसपीएफ के सभी सदस्यों के समर्थन पत्र का भी जिक्र किया गया.
क्या हैं समीकरण?
मौजूदा स्थिति में मुख्यमंत्री बिरेन सिंह के समर्थन में 23 विधायक हैं. जिसमें बीजेपी के 18, नगा पीपुल्स फ्रंट के चार और एलजेपी के एक विधायक हैं. साल 2017 में 60 सदस्यीय मणिपुर विधानसबा में चुनाव हुए थे. कांग्रेस ने 28 सीटों पर जीत दर्ज की थी. बीजेपी को 21 सीटें मिली थी. एनपीपी और नगा पीपुल्स फ्रंट के 4 विधायक जीते थे. एलजेपी, टीएमसी और एक निर्दलीय उम्मीद को एक-एक सीट पर जीत मिली.
सभी गैर कांग्रेसी विधायकों और एक कांग्रेस विधायक टी श्यामकुमार के बीजेपी को समर्थन मिलने के बाद बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई. जिसके बाद कांग्रेस के 7 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए. ऐसे में कांग्रेस ने 8 विधायकों के खिलाफ अयोग्य की याचिका दाखिल की जो विधानसभा स्पीकर के पास लंबित है.
28 मार्च 2020 को टी श्यामकुमार को विधानसभा स्पीकर ने अयोग्य घोषित कर दिया. जबकि 8 जून को मणिपुर हाईकोर्ट ने 7 कांग्रेस विधायकों की राज्य विधानसभा में तब तक एंट्री के लिए बैन कर दी जब तक स्पीकर उनके खिलाफ याचिका पर फैसला न दे दें.
यानि अगर विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होता है तो 11 विधायक, यानि 7 अदालत द्वारा रोके गए और 3 इस्तीफ़ा दे चुके विधायक और अयोग्य श्यामकुमार वोटिंग प्रक्रिया का हिस्सा नहीं ले सकेंगे.
इस स्थिति में 49 सदस्यीय विधानसभामें बीजेपी के नेतृत्व वाला गठबंधन सिर्फ 22 वोट ही हासिल कर सकेगा. कांग्रेस गठबंधन के खाते में 26 वोट आ सकते हैं. ऐसे में बीजेपी के हाथ से मणिपुर की सत्ता निकल सकती है.
The post मणिपुर में क्या मुरझा जाएगा ‘कमल’, जानें क्या बन रहे हैं समीकरण? appeared first on AKHBAAR TIMES.