राज्यसभा का रणः कांग्रेस ने विधानसभा अध्यक्ष और दो विधायकों के वोट को निरस्त करने की मांग की

Share and Spread the love

राज्यसभा चुनाव को लेकर मतदान जारी है, इसी बीच मणिपुर से खबर आ रही है कि कांग्रेस ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से आग्रह किया कि वे मणिपुर के विधानसभा अध्यक्ष वाई खेम चंद सिंह और एक अन्य विधायक के वोट को निरस्त किया जाए, क्योंकि इन लोगों ने राज्यसभा चुनाव के दौरान कानून और तय परिपाटी का उल्लंघन किया है.
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील ओरड़ा के समक्ष दिए गए प्रतिवेदन में कांग्रेस की ओर से ये आरोप लगाया है कि खेम चंद सिंह और विधायक गामथांग हाओकिप ने मतदान के बाद अपना वोट तीसरे पक्ष अनाधिकृत दिखाया जो कानून और चुनाव आयोग द्वारा तय परिपाटी का उल्लंघन है.

मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि 8 अगस्त 2017 को चुनाव आयोग की ओर से जारी किए आदेश में स्पष्ट रुप से लिखा गया है कि पार्टी के संबंधित अधिकृत प्रतिनिधि के अलावा किसी अन्य को वोट ना दिखाया जाएगा. अगर इस नियम का कोई उल्लंघन करता है तो उसका वोट निरस्त माना जाएगा.
कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की ओर से दिए गए प्रतिवेदन में मांग की गई है कि इन दोनों के वोटों को निरस्त किया जाए इसके साथ ही चुनावी नतीजे घोषित नहीं किए जाए. गौरतलब है कि मणिपुर से राज्यसभा की एख सीट के लिए भाजपा के लिसेंबा सनाजाओबा और कांग्रेस के टी मंगू के बीच मुकाबला है.
मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार से कई विधायकों के अलग हो जाने के बाद इस समय सरकार संकट में है. ऐसे में राज्यसभा का चुनाव काफी अहम माना जा रहा है.
The post राज्यसभा का रणः कांग्रेस ने विधानसभा अध्यक्ष और दो विधायकों के वोट को निरस्त करने की मांग की appeared first on AKHBAAR TIMES.