मणिपुर के सियासी बवाल से कहीं गिर ना जाए मेघालय की एनडीए सरकार?

Share and Spread the love

IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIAमणिपुर में बीरेन सिंह के नेतृत्व वाली गठबंधन से नेशलन पीपुल्स पार्ची के चारों मंत्रियों ने इस्तीफा देकर गठबंधन तोड़ लिया है. जिसके बाद से ही बीजेपी सरकार मुश्किल में आ गई है. मणिपुर के सियासी बवाल के बाद मेघालय में बीजेपी के समर्थन में चल रही एनपीपी सरकार पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं.
हालांकि एनपीपी प्रमुख कोनराड संगमा ने गुरुवार को कहा कि मणिपुर की राजनीतिक स्थिति का मेघालय में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.
गौरतलब है कि मणिपुर में बीजेपी की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार से बुधवार को डिप्टी सीएम वाई जाय कुमार सिंह, आदिवासी एवं पर्वतीय क्षेत्र विकास मंत्री एन कायिशी, युवा मामलों और खेल मंत्री लेतपाओ हाओकिप और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एल जयंत कुमार सिहं ने मंत्री पदों से इस्तीफा दे दिया है.
Image credit- social mediaइन चारों एनपीपी के मंत्रियों ने कांग्रेस को समर्थन देने का भी एलान कर दिया है. मणिपुर के एनपीपी प्रमुख थांगपिलेन किपगेन ने कहा कि एन बीरेन सिंह के नेतृ्त्व वाली सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए हमने राज्यपाल से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का अनुरोध किया है.
किपगेन ने कहा कि राज्य में इबोबी सिंह के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए नवगठित सेक्युलर प्रोगेसिव फ्रंट को आमंत्रित करने की गुजारिश की है. मणिपुर में बीजेपी सरकार एनपीपी और अन्य विधायकों के समर्थन से चल रही है, वहीं मेघालय में एनपीपी प्रमुख कोनराल्ड संगमा की अगुवाई वाली सरकार बीजेपी के सहयोग से चल रही है.
ऐसे राजनीतिक परिद्रश्य में जब बीजेपी की सरकार से एनपीपी ने समर्थन वापस लेकर मुख्यमंत्री वीरेन सिंह का संकट बढ़ा दिया है तो क्या मेघालय की एनपीपी सरकार से बीजेपी अपना सहयोग वापस लेगी?
The post मणिपुर के सियासी बवाल से कहीं गिर ना जाए मेघालय की एनडीए सरकार? appeared first on AKHBAAR TIMES.