सपा से निष्काषित विधायक राजेश शुक्ला की बची रहेगी विधायकी, ये है वजह

Share and Spread the love

बीते 19 जून को राज्यसभा का चुनाव हुआ. मध्य प्रदेश में बीजेपी को दो सीटों पर जीत मिली जबकि कांग्रेस एक सीट जीत पायी. बसपा और समाजवादी पार्टी के विधायकों ने राज्यसभा चुनाव में भाजपा का साथ दिया है. सपा विधायक पर तत्काल एक्शन लिया गया और पार्टी ने उन्हें निष्काषित कर दिया.
राजेश शुक्ला सपा के मध्य प्रदेश में एक मात्र विधायक थे. बसपा विधायकों के भाजपा को समर्थन देने पर पार्टी ने फिलहाल चुप्पी साध रखी है. जबकि डेढ़ साल तक यह विधायक कांग्रेस सरकार के साथ रहे हैं.
राज्य में बसपा के दो विधायक हैं और सपा का एक विधायक है. इन दलों ने कांग्रेस सरकार का समर्थन किया था. लेकिन सत्ता परिवर्तन के बाद अब ये विधायक भाजपा के साथ खड़े हुए हैं. राज्यसभा चुनाव में बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह, रामबाई और सपा के विधायक राजेश शुक्ला ने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में वोट किया.
राजेश शुक्ल की बची रहेगी विधायकी 
भाजपा प्रत्याशी को वोट देने की वजह से पार्टी से निकाले गए राजेश शुक्ला की विधायकी बनी रहेगी. संविधान के जानकारों का कहना है कि यदि पार्टी के आधे से अधिक शत प्रतिशत विधायक पार्टी की गाइडलाइन के खिलाफ किसी अन्य दल का समर्थन करते हैं तो दल-बदल कानून के दायरे में नहीं आते. सपा-बसपा के शत-प्रतिशत विधायकों ने बीजेपी के प्रत्याशी का समर्थन किया है.
The post सपा से निष्काषित विधायक राजेश शुक्ला की बची रहेगी विधायकी, ये है वजह appeared first on AKHBAAR TIMES.