विधायकों से डील पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

Share and Spread the love

IMAGE CREDIT-FACEBOOKभले ही राज्यसभा के चुनाव खत्म हो गए हो, लेकिन राजस्थान में राज्यसभा चुनाव के दौरान बीजेपी और कांग्रेस के बीच जारी हुई तीखी बहस खत्म होने का नाम नहीं ले रही है बल्कि अब ये और बढ़ती जा रही है. राज्यसभा चुनाव से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर अब और बढ़ गया है.
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया ने सरकार पर 23 विधायकों से डील करने का आरोप लगाया और जल्द प्रमाण के साथ खुलासा करने की बात कही है. इस पर निर्दलीय विधायक ने सतीश पुनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्तव पेश किया है.
लोढ़ा ने विधानसभा प्रक्रिया एवं कार्यसंचालन नियम 158 के तहत विधानसभा अध्यक्ष डा. सीपी जोशी को संबोधित करते हुए विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव को प्रस्तुत किया है. लोढ़ा ने स्पीकर के निर्देश पर विधानसभा सचिव के आवास पर जाकर इसे प्रस्तुत किया है.

विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव में लोढ़ा ने जिस मीडिया रिपोर्ट का जिक्र किया है उसमें कहा गया है कि राज्यसभा चुनाव के बाद सतीश पुनिया ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस विधायकों के दस दिन की बाड़ेबंदी के दौरान 23 विधायकों को खान, रीको में प्लांट व कैश ट्रांजेक्सन की डील हुई थी. इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष ने कहा था कि किन-किन विधायकों से क्या डील हुई है उनके मेरे पास प्रमाण है.
लोढ़ा ने राज्य विधानसभा प्रक्रिया कार्य संचालन के नियम 158 के तहत दिए गए एक नोटिस में कहा है कि विधायक के रुप में विधानसभा की सार्वभौमिकता व प्रतिष्ठा बनाए रखना उनका कर्तव्य है. राज्य विधानसभा के 23 सदस्यों के खिलाफ बिना नाम जाहिर किए गए झूठे आरोप लगाए हैं, इससे राज्य की विधानसभा को कलंकित करने का प्रयास किया गया है.
लोढ़ा ने कहा कि मेरा मानना है कि पुनिया के इस तरह के आचरण से राज्य विधानसभा की छवि तार-तार हुई है. बिना किसी प्रमाण के सद्स्यों के खिलाफ इस तरह के आरोप लगाना पूरी तरह से गलत हैं. उन्होंने अपने इस आचरण से राज्य विधानसभा वे उनके सदस्यों के विशेषाधिकार का हनन किया है.
The post विधायकों से डील पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव appeared first on AKHBAAR TIMES.