कानपुर शेल्टर होम मामलाः राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने योगी सरकार से मांगा जवाब

Share and Spread the love

IMAGE CREEDIT-SOCIAL MEDIAउत्तर प्रदेश के कानपुर जिले स्थित संवासिनी गृह का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. विपक्षी दलों ने इस मुद्दे को जोरशोर से उठाया तो प्रशासन ने इसपर सफाई दी. अब इस मामले का राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लेते हुए सरकार को नोटिस जारी कर दिया है.
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव और डीजीपी से इस मामले में जवाब तलब किया है. इसके अलावा राज्य महिला आयोग ने भी कानपुर के जिलाधिकारी से रिपोर्ट मांगी है. बता दें कि कानपुर के बालिका गृह में 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी.
IMAGE CREEDIT-SOCIAL MEDIAजांच के दौरान पता चला कि 2 लड़किया गर्भवती हैं और एक एचआईवी संक्रमित है. मामला आगे बढ़ा तो डीएम ने कहा कि 7 लड़कियां गर्भवती हैं. हालांकि जिलाधिकारी की तरफ से ये साफ किया गया कि वो सभी यहां आने से पहले ही गर्भवती थी.
कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार ने कहा था कि ये सभी यूपी के अलग-अलग जिलों से लाई गई थी और यहां आने से पहले ही गर्भ से थी. प्रशासन की सफाई के बाद भी इस मामले की जांच की मांग की जा रही है. इसकी वजह ये है कि इससे पहले उत्तर प्रदेश और बिहार के शेल्टर होम से हैरान कर देने वाले मामले सामने आ चुके हैं.

The post कानपुर शेल्टर होम मामलाः राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने योगी सरकार से मांगा जवाब appeared first on AKHBAAR TIMES.