पीएम मोदी ने जिस गांव से की थी उज्जवला योजना की शुरूआत उसका अस्तित्व दांव परः रोहित सिंह

Share and Spread the love

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में गंगा नदी के किनारे बसे दर्जनों गांवों को बाढ़ के प्रकोप से बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर बांध निर्माण कराने की मांग उठाई है.
रोहित सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में लिखा है कि आपने 01 मई 2016 को बलिया जिले के हैबतपुर गांव से ही अपनी महत्वाकांक्षी उज्जवला योजना की शुरूआत की थी. उन्होंने पीएम मोदी को याद दिलाया कि आप इस गांव में दो बार आ चुके हैं और आज यही गांव अपने अस्तित्व का संकट झेल रहा है.
युवा चेतना संयोजक ने कहा कि मानसून आने वाला है, अगर गंगा नदी में बाढ़ आ गई तो बलिया के हैबतपुर, मुबारकपुर, नसीराबाद, मालदेपुर, खोड़ी-पाकड़, दरामपुर, सरफुद्दीनपुर, रामपुर, महावल सहित लगभग दर्जनभर गांव गंगा नदी की कटान की वजह से अपना अस्तित्व खो देंगे.

रोहित सिंह ने कहा कि जनप्रतिनिधि कुंभकरण की नींद सोए हुए हैं अगर यहां पर बांध का निर्माण न हुआ तो गरीब ग्रामीणों का जीवन अस्त-व्यस्त हो जाएगा. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद गांव घर बचाओ यात्रा पर निकलेंगे और बांध निर्माण करा कर ही दम लेंगे.
रोहित सिंह ने बताया कि बलिया के इन गाँवों को गंगा नदी की कटान से बचाने के लिए युवा चेतना ने बलिया से लेकर दिल्ली तक आंदोलन किया है. लाकडाउन के पूर्व नई दिल्ली में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत से स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी और युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने मिलकर हैबतपुर सहित दर्जन भर गाँवों को बचाने हेतु बांध निर्माण कराने की मांग कर चुके हैं. अब उन्होंने पीएम मोदी से बांध निर्माण की अपील की है.
The post पीएम मोदी ने जिस गांव से की थी उज्जवला योजना की शुरूआत उसका अस्तित्व दांव परः रोहित सिंह appeared first on AKHBAAR TIMES.