कोरोनिल: आयुष मंत्री ने कहा- इजाजत नहीं लेना हमारी आपत्ति, मामला टास्क फ़ोर्स के हवाले

Share and Spread the love

पतंजलि ने कोरोना वायरस महामारी के इलाज की दवा कोरोनिल बनाने का दावा किया है. जिसे मंगलवार को पतंजलि के संयोजक बाबा रामदेव ने लांच किया. लांच के कुछ ही घंटे बाद आयुष मंत्रालय ने इस दवा के विज्ञापन पर रोक लगा दी और इसके बारे में जानकारी मांगी गयी है.
मामला टास्क फ़ोर्स के पास भेजा गया है. केन्द्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक का कहना है कि बाबा रामदेव को अपनी दवाई की घोषणा बिना किसी मंत्रलाय से अनुमति लिए मीडिया में नहीं करनी चाहिए थी. हमने उनसे जवाब मांगा है और पूरे मामले को टास्क फ़ोर्स को भेजा है. उन्होंने बताया कि बाबा रामदेव से जवाब मांगे गए थे उन्होंने जवाब दिए हैं.
आयुष मंत्री ने कहा है कि पतंजलि के जवाब और मामले की टास्क फ़ोर्स समीक्षा करेगी कि क्या-क्या फार्मूला अपनाया है. जिसके बाद अनुमति दी जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रोटोकॉल के मुताबिक दवाई बनाने को लेकर दवाई को मार्केट में लाने को लेकर पतंजलि को आयुष मंत्रालय से पहले अनुमति लेनी चाहिए थी.
उन्होंने कहा कि इजाजत नहीं लेना ही हमारी आपत्ति है. अगर कोई दवाई लेकर मार्केट में आता है और बनाता है तो ये ख़ुशी की बात है. उससे किसी को एतराज नहीं है.
आयुष मंत्रलाय भी दवाई पर काम कर रहा है. नाइक ने कहा कि जुलाई महीने तक आयुष मंत्रालय भी कोरोना वायरस की दवाई मार्केट में ला सकता है.
इससे पहले बाबा रामदेव ने दावा किया था कि दवा के दो ट्रायल हुए हैं. पहला क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी और दूसरा क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल. उन्होंने इस दवाई से 100 फीसदी मरीज के रिकवर की बात कही थी.
The post कोरोनिल: आयुष मंत्री ने कहा- इजाजत नहीं लेना हमारी आपत्ति, मामला टास्क फ़ोर्स के हवाले appeared first on AKHBAAR TIMES.