बिहार बीजेपी में वंशवाद! पिता-पुत्र व ससुर-बहू को मिली जिम्मेदारी

Share and Spread the love

बिहार भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की घोषणा हुई है. जिसमें वंशवाद दिखाई दे रहा है. प्रदेश नेतृत्व ने चार पिता-पुत्र को प्रदेश कार्यसमिति में जगह दी है. जिसमें आरके सिन्हा-ऋतुराज सिन्हा, डॉ सीपी ठाकुर-विवेक ठाकुर, गोपाल नारायण सिंह-त्रिविक्रम नारायण सिंह, हुक्मदेव नारायण यादव- अशोक कुमार यादव और छेदी पासवान-रवि पासवान के अलावा ससुर-बहू सोनेलाल हेम्ब्रम और निक्की हेम्ब्रम को भी प्रदेश कार्यसमिति में शामिल किया गया है.
इसको लेकर कार्यकर्ताओं में नाराजगी तो है पर कोई आवाज नहीं उठा रहा है. इससे पहले विधानसभा चुनाव में कई नेता पुत्र चुनावी मैदान में उतरे थे लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली थी. यानि जनता ने उन्हें नकार दिया था.
हालांकि पार्टी के दिग्गज नेता पार्टी में वंशवाद की बात को नकारते रहते हैं. वह विरोधियों पर इसी को लेकर निशाना साधते हैं, लेकिन अगर कहा जाए तो गलत नहीं होगा कि पार्टी खुद भी इसे बढ़ावा दे रही है. यानि दूसरे दल की तरह भाजपा नेताओं का भी पुत्र मोह कम नहीं है.
गौरतलब है कि इसी साल राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में राजनीतिक दल अपने संगठन को मजबूत करने के लिए पूरी ताकत लगा रहे है. इसी महीने की 9 तारीख को केन्द्रीय गृह मंत्री और भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह की वर्चुअल रैली हुई थी. कई स्क्रीन के जरिए रैली को लोगों तक पहुंचाया गया था.
The post बिहार बीजेपी में वंशवाद! पिता-पुत्र व ससुर-बहू को मिली जिम्मेदारी appeared first on AKHBAAR TIMES.