अखिलेश यादव पहुंचे सपा मुख्यालय, कार्यकर्ताओं के लिए जारी की ये विशेष अपील, कहा जन-जन…

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज पार्टी मुख्यालय में ‘‘समाजवादी पार्टी का आव्हान‘‘ अपील जारी करते हुए सभी पार्टी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों का आव्हान किया कि वे राज्य और केन्द्र की भाजपा सरकारों की अक्षम्य गलतियों तथा जनविरोधी नीतियों का जन-जन के बीच जाकर पर्दाफाश करें और पीड़ित, दुःखी तथा असहाय लोगों की यथासम्भव मदद करें.
अखिलेश यादव ने कहा कि किसान लुट रहा है, मजदूर भूखों रह रहा है, बेरोजगारी सुरसा की तरह आकार बढ़ाती जा रही है, नौकरी के नाम पर युवकों को धोखा दिया जा रहा है, छात्र वर्ग कुंठित है. बुनकर, दस्तकार और छोटा, मझोला, बड़ा उद्यमी किसानों की तरह आत्महत्या करने को विवश है. देश की सीमाएं सिकुड़ रही है. भाजपा ने जनता का भरोसा तोड़ने का काम किया है. कोरोना महामारी से पूरा देश भयाक्रांत है. लॉकडाउन ने सामाजिक-आर्थिक सभी गतिविधियां ठप्प कर दी हैं. लाखों श्रमिक बेरोजगार हो गए हैं.
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने के बाद जनहित का कोई उल्लेखनीय कार्य नहीं किया है. जनता अपने साथ हुए विश्वासघात को भूल नहीं सकती है. इसलिए हमारा मुख्य लक्ष्य उत्तर प्रदेश में कुशासन का पर्याय बन गई भाजपा सरकार को सन् 2022 के चुनावों में सत्ता से बेदखल करना है.

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार ने देश को आर्थिक अराजकता, मंदी, अपराध और लोकतंत्र के अवमूल्यन की दिशा में ढकेला है. साजिश और अफवाह, यही भाजपा के हथियार है. उन्होंने कहा भाजपा की एकाधिकारी प्रवृत्ति की आशंका प्रबल होती दिखती है.
उन्होंने कहा कि आज के दिन ही देश में लोकतंत्र को तानाशाही का शिकार बनाया गया था. जब उसके विरोध में जनता उठी तो दूसरी आजादी की रक्षा हो सकी. आज फिर वैसी संक्रमण कालीन स्थिति बन रही है. किसान के विरूद्ध गहरी साजिश के तहत कारपोरेट पूंजीवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है. संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. साम्प्रदायिकता और जातियों के बीच नफरत लोकतंत्र को कमजोर करती है.
अखिलेश यादव ने आव्हान किया कि आज हमें यह देखना होगा कि नौजवानों और किसानों के साथ अन्याय न हों, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और मानवाधिकारों का हनन न हो. देश में डर का माहौल पैदा करने वालों को सफल न होने दें. लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान की मूल प्रस्तावना के हिस्से हैं.
समाजवादी पार्टी इनके लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने आज के दिन उन लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को नमन किया जिन्होंने आपातकाल में यंत्रणाएं सहकर भी तानाशाही को उखाड़ फेंका था.
The post अखिलेश यादव पहुंचे सपा मुख्यालय, कार्यकर्ताओं के लिए जारी की ये विशेष अपील, कहा जन-जन… appeared first on AKHBAAR TIMES.