नोटिस पर बोलीं प्रियंका गांधी, जो करना करें, मैं इंदिरा की पोती, BJP की अघोषित प्रवक्ता नहीं

Share and Spread the love

कानपुर में शेल्टर होम में कई बच्चियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद इस पर सियासत बढ़ी है. उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को इसी मसले पर एक नोटिस भेजा था. जिस पर प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि उनका कर्तव्य सच्चाई को सामने रखना है. किसी प्रोपेगेंडा को आगे रखना नहीं है.
प्रियंका गांधी ने नोटिस पर कहा कि जो भी कार्यवाही करना चाहते हैं करें. मैं इंदिरा गांधी की पोती हूँ. कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं.
कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि जनता के एक सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य यूपी की जनता के प्रति है और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है. किसी सरकारी प्रोपेगेंडा को आगे रखना नहीं है. यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा मुझे फिजूल धमकियां देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है.

जनता के एक सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य यूपी की जनता के प्रति है, और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है। किसी सरकारी प्रॉपगैंडा को आगे रखना नहीं है। यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा मुझे फिज़ूल की धमकियाँ देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है।..1/2
— Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) June 26, 2020

उन्होंने आगे कहा कि जो भी कार्यवाई करना चाहते हैं, बेशक करें. मैं सच्चाई सामने रखती रहूंगी. मैं इंदिरा गांधी की पोती हूँ, कुछ विपक्ष के नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं.
गौरतलब है कि कानपुर के शेल्टर होम में बीते दिनों 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पायी गयी हैं. साथ ही करीब 6 लड़कियां गर्भवती भी थीं. प्रियंका गांधी इसी मसले को उठा रही थीं.
The post नोटिस पर बोलीं प्रियंका गांधी, जो करना करें, मैं इंदिरा की पोती, BJP की अघोषित प्रवक्ता नहीं appeared first on AKHBAAR TIMES.