PM मोदी के बयान पर बोले संजय राउत, अन्य रेजीमेंट के जवान क्या सीमा पर तम्बाकू मल रहे थे?

Share and Spread the love

गलवान घाटी में भारत और चीन सेना के बीच हुए संघर्ष पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने आपत्ति जताई है. उन्होंने बिहार रेजीमेंट की तारीफ करने वाले प्रधानमंत्री के बयान पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि अगर उन जवानों ने बहादुरी दिखाई तो अन्य रेजीमेंट के जवान क्या सीमाओं पर तम्बाकू मलते बैठे थे?
संजय राउत ने अपने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बिहार रेजीमेंट ने लद्दाख की गलवान घाटी में बहादुरी दिखाई. तो महारों, मराठों, राजपूतों, सिखों, गोरखाओं, डोगरा रेजीमेंट सीमा पर तम्बाकू मलते बैठे थे क्या?
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के वीरपुत्र सुनील काले कल पुलवामा में शहीद हो गए. लेकिन बिहार में चुनाव होने की वजह से ही सेना में जाति और प्रान्त का महत्त्व बताया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस तरह की राजनीति कोरोना से भी बदतर है. महाराष्ट्र में विपक्ष इस खुजली को खुजलाने का काम कर रहा है.
अपने एक अन्य बयान में राउत ने का कि सेना की कोई भी रेजीमेंट बस रेजीमेंट होती है. हर रेजीमेंट की अपनी परम्परा और गाथा है. सभी रेजीमेंट देश की होती है. किसी प्रान्त या राज्य या किसी धर्म की नहीं होती.
उन्होंने कहा कि राजपूताना रेजीमेंट, सिख रेजीमेंट है, महार, बिहार, गोरखा और डोगरा रेजीमेंट है. यह परम्परा के नाते रेजीमेंट का नाम होता है. सिर्फ एक रेजीमेंट का नाम लेना और एक राय का नाम लेना, राष्ट्रीय अखंडता और एकात्म के लिए ठीक नहीं है.
The post PM मोदी के बयान पर बोले संजय राउत, अन्य रेजीमेंट के जवान क्या सीमा पर तम्बाकू मल रहे थे? appeared first on AKHBAAR TIMES.