क्या मायावती को प्रियंका गांधी ने बताया बीजेपी का अघोषित प्रवक्ता?

Share and Spread the love

उत्तर प्रदेश के कानपुर शेल्टर होम में कई लड़कियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में सियासत तेज हो गयी है. इस मसले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा. जिसके बाद उन्हें उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने एक नोटिस भेजा. जिस पर जवाब देते हुए प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश की विपक्षी पार्टियों को भी घेरती नजर आईं.
प्रियंका गांधी ने नोटिस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अपने अन्य विभागों से मुझे धमकियां देकर फिजूल का समय बर्बाद न करे. उन्होंने कहा कि मैं इंदिरा गांधी की पोती हूँ, कोई अघोषित भाजपा प्रवक्ता नहीं.
प्रियंका गांधी के इस बयान को अन्य दलों को निशाने पर लेने के रूप में भी देखा जा रहा है. मजदूरों की घर वापसी के मसले पर प्रियंका गांधी और योगी सरकार के बीच विवाद हो गया था. इस बीच बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने योगी सरकार को निशाने पर लेने के बजाय कांग्रेस को निशाने पर लिया था.
कांग्रेस नेता पीएल पुनिया अपने एक ट्वीट में कह चुके हैं कि बसपा प्रमुख बीजेपी की भाषा बोलती हैं. पुनिया ने अपने ट्वीट में कहा था कि ट्वीटर बहनजी जिस तरह की भाषा और ट्वीट का इस्तेमाल कर रही हैं, उससे पता चलता है कि वह बीजेपी का प्रेस नोट बनाकर भेजती हैं. वहीं अब प्रियंका गांधी के अघोषित बीजेपी के प्रवक्ता वाले बयान को बसपा सुप्रीमों मायावती से जोड़कर देखा जा रहा है.
The post क्या मायावती को प्रियंका गांधी ने बताया बीजेपी का अघोषित प्रवक्ता? appeared first on AKHBAAR TIMES.