30 जून को राजद में आर-पार, रघुवंश या रामा सिंह में से एक थामेगा ‘लालेटन’

Share and Spread the love

बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद इस समय रघुवंश प्रसाद और रामा सिंह को लेकर बुरी तरह उलझ गया है. राजद प्रमुख को अपने पुराने भरोसेमंद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद या तेजस्वी यादव के हाल ही में बने नए सियासी मित्र रामा लिंब में से किसी एक को चुनना है. रामा सिंह को राजद में लाने की खबर से कोरोना का इलाज करा रहें रघुवंश प्रसाद बेहद खफा है. उन्होंने राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया है.
रामा सिंह वो व्यक्ति हैं जिन्होंने रघुवंश प्रसाद सिंह को चुनाव में हराया था. कहा जा रहा है कि जगदानंद सिंह की पहल पर तेजस्वी यादव रामा सिंह को राजद से जोड़ने जा रहे हैं इसके लिए रघवुंश प्रसाद सिंह राजी नहीं हैं. रामा के राजद में आने की तारीख 29 जून को तय की गई है. वहीं रघुवंश भी कोरोना निगेटिव हो गए हैं. वह भी 30 जून को अस्पताल से वापस आने वाले हैं.

बिहार की राजनीति में लोगों को अब इस बात को लेकर दिलचस्पी बढ़ती जा रही है कि लालू परिवार किसका चयन करता है. रघुवंश प्रसाद सिंह की हालिया बेचैनी को समझने के लिए रामा सिंह की राजनीति को समझना जरुरी है. बाहुबली की पहचान रखने वाले रामा सिंह और रघुवंश दोनों एक ही क्षेत्र महनार से आते हैं.
लेकिन राजनीति में दोनों अलग तरह की राजनीति करते हैं. रामा जिस जगह के नेता हैं, रघुवंश उसके विरोधी हैं. एक की राजनीति सिद्धांतो वाली है तो दूसरी की राजनीति बाहुबल की है. उधर लालू प्रसाद यादव ने अपने तरफ से रघुवंश प्रसाद सिंह को लेकर पहल शुरु कर दी है.
The post 30 जून को राजद में आर-पार, रघुवंश या रामा सिंह में से एक थामेगा ‘लालेटन’ appeared first on AKHBAAR TIMES.