चिराग पासवान के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में मचा हड़कंप, क्या टूट जाएगा एनडीए?

Share and Spread the love

बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही अभी समय हो मगर वहां की सियासी हलचलें तेज हो गई हैं. बिहार महागठबंधन में रार मचने के बाद अब एनडीए में भी खींचातानी तेज हो गई है. मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए ये लगने लगा है कि बिहार की राजनीति में अभी काफी उथल-पुथल मचेगी. कौन किस पाले में जाएगा इसका अंदाजा लगाना बेहद ही मुश्किल है.
लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के बदले रूख ने एनडीए के सामने मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चिराग पासवान पार्टी के बड़े नेताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंंग के माध्यम से बैठक कर रहे थे. मीटिंग की शुरूआत से ही चिराग के सख्त तेवर देख पार्टी के पदाधिकारी सकते में आ गए.

उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को ये साफ संदेश दे दिया है कि वो हर परिस्थिती के लिए तैयार रहें, उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि जरूरत पड़ी तो पार्टी अकेले ही बिहार में चुनाव लड़ेगी. बैठक की शुरूआत में चिराग ने कहा कि ये तय हो चुका है कि बिहार में समय पर ही विधानसभा चुनाव होंगे.
बिहार में हमारे गठबंधन का मौजूदा स्वरूप बदल सकता है, जरूरत पड़ी तो पार्टी अकेले भी चुनाव लड़ेगी. सभी नेता व कार्यकर्ता तमाम बिंदुओं को ध्यान में रखकर तैयारी शुरू कर दें, किसी भी परिस्थिती का सामना करने के लिए तैयार रहें.
सूत्रों के मुतातबिक चिराग ने चुनाव के लिए जो भी रणनीति बताई उसमें एनडीए का कहीं पर भी जिक्र नहीं किया. चिराग के बदले तेवरों से ये साफ हो चुका है कि अगर उन्हें इस विधानसभा चुनाव में सम्मानजनक सीटें न दी गईं तो वो कोई भी फैसला ले सकते हैं. लोजपा और जेडीयू के बीच तकरार कोई नई बात नहीं है.

चिराग पासवान इससे पहले भी कई मुद्दों पर खुलकर नितीश कुमार का विरोध जता चुके हैं. नितीश कुमार ने लोजपा को पूरी तरह से दरकिनार कर रखा है. बिहार की सरकार में लोजपा की कोई भागीदारी नहीं है.
बताया जा रहा है कि पिछले चार महीनों से नितीश और चिराग के बीच बातचीत तक नहीं हुई. अब मामला ये है कि अगर चिराग पासवान एनडीए का साथ छोड़ते हैं तो क्या वो महागठबंधन में शामिल होंगे या कोई तीसरा मोर्चा बनाने की बात करेंगे.
The post चिराग पासवान के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में मचा हड़कंप, क्या टूट जाएगा एनडीए? appeared first on AKHBAAR TIMES.