नियमों का उल्लंघन करने वाले विधायक के मामले में योगी सरकार ने दी सफाई

Share and Spread the love

उत्तर प्रदेश के निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी को लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करना भारी पड़ रहा है. प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक पत्र जारी कर मामले से अपना पल्ला झाड़ लिया है. सरकार द्वारा सफाई देते हुए कहा गया है कि अमनमणि अपने कृत्यों के लिए स्वयं जिम्मेदार हैं.
अमनमणि के खिलाफ उत्तराखंड के टिहरी जिले में मामला दर्ज किया गया है. उन पर लॉकडाउन का उल्लंघन करने का आरोप है. वह 11 लोगों के साथ चमोली पहुंचे थे.
उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्य सरकार की ओर से उन्हें कोई पास अधिकृत नहीं किया गया. अमनमणि अपने कृत्यों के लिए स्वयं जिम्मेदार हैं और उनके तथ्यों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ जोड़ना आपत्तिजनक है.
विधायक को तीन राज्यों में जाने की अनुमति मिली थी. पास में तीन कारों के नंबर और 11 लोगों को यात्रा की अनुमति थी. ऐसा बताया जा रहा है कि अमनमणि त्रिपाठी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट के पितृ कार्य के लिए अनुमति मांगी थी. लेकिन सीएम योगी के भाई ने इस तरह के कार्य से इनकार किया है. उनका कहना है कि पिता की अस्थियों को प्रवाहित किया जा चुका है.
कर्णप्रयाग के एसडीएम ने बताया कि अमनमणि त्रिपाठी अन्य लोगों के साथ उत्तर प्रदेश से आए थे. उनके पास 3 वाहन थे. उन्हें गौचर बैरियर पर रोक दिया गया. बताया कि बैरियर पर रोकने के बाद भी कर्णप्रयाग पहुँच गए और डॉक्टर से बहस की और स्क्रीनिंग में सहयोग नहीं किया.
The post नियमों का उल्लंघन करने वाले विधायक के मामले में योगी सरकार ने दी सफाई appeared first on AKHBAAR TIMES.