कोरोनिल विवाद पर चौतरफा घिरे बाबा रामदेव आए मीडिया के सामने, दी ये सफाई

Share and Spread the love

कोरोनिल दवा को लेकर विवादों में घिरे बाबा रामदेव ने आज मीडिया के सामने आकर अपनी सफाई पेश की. उन्होंने कहा कि पतंजलि ने किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है. कंपनी की तरफ से सफाई में ये भी कहा गया है कि उन्होंने कभी कोरोना के इलाज का दावा नहीं किया.
पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलिने कभी नहीं कहा था कि कोरोनिल दवा से कोरोना वायरस का इलाज हो सकता है. उन्होंने कहा कि कंपनी ने केवल दिव्य श्वासरी वटी, दिव्य कोरोनिल टैबलेट और दिव्य अणुतेल नाम की दवाइयों की पैकेजिंग की ताकि उन्हें आसानी से बाहर भेजा जा सके.

बाबा रामदेव ने कहा कि हमने क्लीनिकल ट्रायल और रजिस्ट्रेशन दोनों की प्रक्रिया के नियमों का पालन किया है. बता दें कि 23 जून को बाबा रामदेव और बालकृष्ण ने कोरोनिल दवा लॉंच की थी. इस समय दावा किया गया था कि इससे कोरोना वायरस का 100 प्रतिशत इलाज हो सकता है. इसके बाद से ही मामला विवादों में आ गया.
उत्तराखंड सरकार के आयुष मंत्रालय ने पतंजलि को नोटिस जारी करते हुए कहा कि पतंजलि के पास कोरोना की दवा बनाने का लाइसेंस ही नहीं है. उन्हें तो सिर्फ जुकाम, बुखार और इम्युनिटी की दवा बनाने की इजाजत दी गई थी. कई राज्यों में पतंजिल और बाबा रामदेव के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है.

कुछ लोग जरूर खुश हो रहे होंगे कि आयुष मंत्रालय ने कहा कि कोविड मैनेजमेंट के लिए पतंजलि ने जो काम किया उसको हम उपयुक्त कह रहे हैं। इसमें मैनेजमेंट शब्द का इस्तेमाल किया गया,ट्रीटमेंट का नहीं। शब्दों के मायाजाल में हम आयुर्वेद का सत्य न तो दबने देंगे, न ही मिटने देंगे:बाबा रामदेव pic.twitter.com/2SDL2Ka09W
— ANI_HindiNews (@AHindinews) July 1, 2020

The post कोरोनिल विवाद पर चौतरफा घिरे बाबा रामदेव आए मीडिया के सामने, दी ये सफाई appeared first on AKHBAAR TIMES.