69000 शिक्षक भर्ती में फंसा नया पेंच, अब पिछड़ा आयोग ने भेजा यूपी सरकार को नोटिस

Share and Spread the love

IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIAउत्तर प्रदेश की योगी सरकार को भले ही यूपी के प्राइमरी स्कूलों में 69 हजार शिक्षक भर्ती के मामले में सुप्रीमकोर्ट से राहत मिल चुकी है. इसके बाद भी योगी सरकार को इस भर्ती में राहत मिलती हुई नहीं दिखाई दे रही है. अब इस भर्ती में नया पेंच पिछड़ा वर्ग आयोग ने फंसा दिया है.
भर्ती प्रक्रिया में कथित तौर पर आरक्षण नियमों का उल्लंघन करने पर आयोग ने यूपी बेसिक शिक्षा विभाग, प्रमुख सचिव. विशेष सचिव और परीक्षा नियामक प्राधिकार सचिव को नोटिस जारी करते हुए तलब किया है. इस मामले की सुनवाई 7 जुलाई को आयोग के उपाध्यक्ष डा. लोकेश कुमार प्रजापति करेंगे.
गौरतलब है कि भर्ती प्रक्रिया को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव, एटा सांसद राजबीर सिंह, सीतापुर सदर विधायक राकेश राठौर और अपना दल के पूर्व अध्यक्ष आशीष सिंह पटेल ने सीएम को पत्र लिखकर भर्ती प्रक्रिया में आरक्षण उल्लंघन का आरोप लगाया था.
अपना दल (एस) के पूर्व अध्यक्ष आशीष सिंह पटेल ने पत्र में आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों की कट आफ सामान्य से अधिक होने के बाद जनरल कैटेगरी में दगह ना देने पर आपत्ति जताई थी. कहा कि इस कारण ओबीसी वर्ग के तकरीबन 15 हजार छात्रों को नुकसान हुआ.
उनका कहना था कि शासनादेश में स्पष्ट है कि ऐसे अभ्यर्थियों को जनरल कैटेगिरी में जगह दी जाएगी. पिछड़ा वर्ग आयोग ने नोटिस जारी करते हुए कहा कि अनुच्छेद 338 बी के तहत आयोग को इस मामले में हस्तक्षेप करने का संवैधानिक अधिकार है. मामले की सुनवाई 7 जुलाई को की जाएगी. आयोग ने सुनवाई के दौरान सभी दस्तावेजों के साथ मौजूद होने के निर्देश दिए हैं.
The post 69000 शिक्षक भर्ती में फंसा नया पेंच, अब पिछड़ा आयोग ने भेजा यूपी सरकार को नोटिस appeared first on AKHBAAR TIMES.