मायावती ने मजदूरों के किराए के विषय पर सरकार को घेरा, मदद का भी दिया आश्वासन

Share and Spread the love

कोरोना वायरस के सुंक्रमण के चलते लॉकडाउन की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को वापस लाने के एवज में किराया लेने के मुद्दे पर समूचा विपक्ष सरकार को घेरने में लगा हुआ है. हालांकि सरकार ने कहा है कि केंद्र और राज्य सरकार मिलकर किराए के भार को वहन कर रही हैं.
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के एलान के बाद राजद के मुखिया तेजस्वी यादव, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मजदूरों के किराए के मसले पर सरकार को जमकर घेरा. मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने भी इस विषय पर सरकार पर तंज कसते हुए मदद की पेशकश की.

ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि यह अति दुर्भाग्यपूर्ण है कि केन्द्र व राज्य सरकारें प्रवासी मजदूरों को ट्रेनों व बसों आदि से भेजने के लिए, उनसे किराया भी वसूल रही हैं. बी.एस.पी. की यह माँग है कि सभी सरकारें यह स्पष्ट करें कि वे उन्हें भेजने के लिए किराया नहीं दे पायेंगी.
उन्होंने कहा ऐसी स्थिति में बी.एस.पी. का यह भी कहना है यदि सरकारें प्रवासी मजदूरों का किराया देने में आनाकानी करती है तो फिर बी.एस.पी., अपने सामर्थवान लोगों से मदद लेकर, उनके भेजने की व्यवस्था करने में अपना थोड़ा योगदान जरूर करेगी.

1. यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण है कि केन्द्र व राज्य सरकारें प्रवासी मजदूरों को ट्रेनों व बसों आदि से भेजने के लिए, उनसे किराया भी वसूल रही हैं। सभी सरकारें यह स्पष्ट करें कि वे उन्हें भेजने के लिए किराया नहीं दे
पायेंगी। बी.एस.पी. की यह माँग है। 1/2
— Mayawati (@Mayawati) May 5, 2020

The post मायावती ने मजदूरों के किराए के विषय पर सरकार को घेरा, मदद का भी दिया आश्वासन appeared first on AKHBAAR TIMES.