बिहार की जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया, एनडीए का ध्यान सिर्फ चुनाव पर: कांग्रेस

Share and Spread the love

बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने राज्य की नितीश सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सूबे में जिस तरह कोरोना महामारी की अनदेखी की जा रही है ऐसे में लाखों लोगों की जान खतरे में है. एनडीए गठबंधन के सभी दलों का पूरा ध्यान विधानसभा चुनाव पर केंद्रित है. जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.
ललन कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से हजारों लोग को कोरोना वायरस के लक्षण होते हुए भी उनकी जांच नहीं हो पा रही है. ऐसे में जाने अनजाने लोग कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलाने को मजबूर हैं.
उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह करते हुए कहा कि आपकी पहली जिम्मेदारी आम जनता की जान माल की सुरक्षा करना है क्योंकि आम जनता के बदौलत ही आप मुख्यमंत्री है अगर आपके शासनकाल में जनता ही सुरक्षित नहीं रही तो आप किस पर शासन करेंगे समय सीमा के अन्दर चुनाव कराने की आपकी जिद कहीं बिहार के आम जनता पर भारी न पड़ जाए.

ललन ने बिहार के सभी राजनीतिक दलों से आह्वान किया है कि दलीय हित को छोड़कर बिहार के आम जनता के हित में कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों की समुचित जांच और और उचित इलाज के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर दबाव बनाने की पहल करें ताकि बिहार के आम जनों की जान माल की सुरक्षा हो सके. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछा कि राज्य में प्रति 10 लाख लोगों पर सिर्फ 2197 लोगों की ही जांच क्यों हो रही है.
ललन ने सोमवार को नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीईओ अमिताभ कांत के ट्वीट के हवाले से बताया कि प्रति 10 लाख लोगों पर बिहार में जहां सिर्फ 2197 लोगों की जांच हो पाती है वहीं आंध्रप्रदेश में प्रति 10 लाख लोगों पर 18597, दिल्ली में 32863, राजस्थान में 12243, पंजाब में 11138 लोगों की जांच हो रही है.
कांग्रेस नेता ने कहा कि ये आंकड़े बिहार सरकार की कोरोना संक्रमण की जांच संबंधी दावों की पोल खोलने वाला तथा सरकारी तैयारियों पर बड़ा सवाल खड़ा करता है.
The post बिहार की जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया, एनडीए का ध्यान सिर्फ चुनाव पर: कांग्रेस appeared first on AKHBAAR TIMES.