विकास दुबे मामला: चौबेपुर थाने के पूर्व एसओ और दरोगा हुए गिरफ्तार

Share and Spread the love

कानपुर के बिकरू गांव मामले में चौबेपुर थाने के तत्कालीन एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है. ये दोनों ही शक के घेरे में बने हुए थे. एक दिन पहले ही एसटीएफ विनय तिवारी को लेकर बिकरू गांव पहुंची थी जहां पूछताछ की गयी थी.
प्रकरण के बाद सामने आया था कि पूर्व एसओ विनय तिवारी जब पुलिस की टीम के साथ दबिश देने के लिए बिकरू गांव पहुंचे थे तो वह पीछे ही रहे. यही वजह रही कि वह वहां से भाग निकले और खरोंच तक नहीं आई. दोनों की गिरफ्तारी का कारण कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया है.
उन्होंने बताया कि इन दोनों अधिकारीयों पर विकास दुबे से संबंध रखने, पुलिस टीम की जान खतरे में डालने और मौके से भाग जाने के मामले में मुकदमें दर्ज करके कार्रवाई की गयी है.
इससे पहले चौबेपुर थाने के सभी 68 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था. इसके साथ ही पूरी पुलिस टीम बदल दी गयी. वहीं एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा का घटना के बाद ही निलंबित कर दिया गया था.
वहीं विकास दुबे की तलाश में पुलिस अभी भी जुटी है. वह लगातार पुलिस को चकमा दे रहा है. इसके बीच उसके ऊपर रखी गयी ईनामी राशि को बढ़ाकर 5 लाख रूपये कर दी गयी है.
The post विकास दुबे मामला: चौबेपुर थाने के पूर्व एसओ और दरोगा हुए गिरफ्तार appeared first on AKHBAAR TIMES.