भारतीय मीडिया की वह रिपोर्ट जिसे देख गुस्से में आए नेपाल ने बैन कर दिए भारतीय न्यूज़ चैनल

Share and Spread the love

भारत के कुछ इलाकों को अपना बताकर नक़्शे में संसोधन करने वाले नेपाल में इस वक्त भारतीय मीडिया को लेकर गुस्सा है. भारत के कुछ मीडिया चैनल पर पाबंदी भी लगा दी गयी है. नेपाल का कहना है कि वह इसको लेकर राजनीतिक कार्रवाई भी करेगा. इस रिपोर्ट से सत्ताधारी पार्टी के अलावा विपक्ष भी नाराज है.
नेपाल इसे अपनी संप्रभुता से जोड़ कर देख रहा है. भारत के एक हिंदी न्यूज़ चैनल पर नेपाल में चीन की राजदूत होउ यांकी और प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को लेकर एक स्टोरी चलाई गयी. जिस पर नेपाल का कहना है कि इस सनसनीखेज खेज दावे में हकीकत कुछ नहीं है.
गुरुवार को नेपाल सरकार के प्रवक्ता युबराज खाटीवाडा ने कहा कि कुछ भारतीय मीडिया बेबुनियाद और शर्मनाक आरोप प्रधानमंत्री ओली पर लगा रहे हैं. जिस तरह की स्टोरी दिखाई गयी उसे लेकर सरकार कानूनी और राजनीतिक कार्रवाई करेगी.

युवराज ने कहा कि सरकार के पास पूरा अधिकार है कि वो भारतीय मीडिया के खिलाफ कार्रवाई करे जो नेपाल की छवि, राष्ट्रीय संप्रभुता और नेपालियों की मर्यादा को चोट पहुंचाने में लगे हैं. ऐसे प्रसारण को रोकने के लिए कहा गया है.
नेपाल का एक प्रमुख अखबार लिखता है कि भारतीय न्यूज़ चैनल जी न्यूज़ ने नेपाल के पीएम और चीन की राजदूत होउ यांकी के संबंधों को लेकर सनसनीखेज दावा किया, जिसका सच्चाई से कोई संबंध नहीं है.
पीएम केपी शर्मा ओली के प्रेस सलाहकार सूर्य थापा ने बताया है कि मामले पर पीएम ने खुद नोटिस लिया है. उन्होंने कहा कि केबल ऑपरेटर्स भारतीय न्यूज़ चैनल के प्रसारण को देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए बंद कर देंगे. नेपाल टीवी एसोसिएशन ने पुष्टि की है कि कुछ भारतीय न्यूज़ चैनल पर पाबंदी लगा दी गयी है.
The post भारतीय मीडिया की वह रिपोर्ट जिसे देख गुस्से में आए नेपाल ने बैन कर दिए भारतीय न्यूज़ चैनल appeared first on AKHBAAR TIMES.