विकास दुबे के लिए मुखबरी करने वाले एसआई को सता रहा ये डर, पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

Share and Spread the love

विकास दुबे के लिए मुखबरी करने वाले जिन दो पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया गया है उसमें से एक सब इंस्पेक्टर केके शर्मा ने सुप्रीमकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. सर्वोच्च अदालत में उसने याचिका दाखिल कर सीबीआई जांच की मांग की है. उसने अपने एनकाउंट होने की संभावना जताई है और सुरक्षा की मांग की है.
एसटीएफ ने चौबेपुर थाने के निलंबित एसओ विनय तिवारी और एसआई केके शर्मा शर्मा को गिरफ्तार किया था. दोनों पर धारा 120बी के तरत एफआईआर दर्ज की गयी थी. दोनों पुलिसकर्मियों पर मुखबरी करने का आरोप लगा है.

केके शर्मा ने अपने और अपनी पत्नी की सुरक्षा के लिए मांग की है. उसने कहा है कि विकास दुबे और उसके सहयोगियों के एनकाउंटर के बाद उसे अपनी भी जान का खतरा है, क्योंकि एसटीएफ उन्हें विकास दुबे और उनके सहयोगियों की तरह मार सकती है. इसके साथ ही उस मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है.
एनकाउंटर का हवाला देते हुए याचिका में एसआई द्वारा कहा गया कि उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग का रवैया कैसा है. यह स्पष्ट हो चुका है कि राज्य में कानून व्यवस्था की सुरक्षा के लिए काम करने वाले संस्थान ने कानून को अपने हाथ में ले लिया है और आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही जान ले ली जा रही है.
The post विकास दुबे के लिए मुखबरी करने वाले एसआई को सता रहा ये डर, पहुंचा सुप्रीम कोर्ट appeared first on AKHBAAR TIMES.