विकास दुबे एनकाउंटर की न्यायिक जांच की मांग याचिका पर हाईकोर्ट का फैसला

Share and Spread the love

विकास दुबे के एनकाउंटर मामले की न्यायिक जांच की मांग करते हुए याचिका दायर की गयी थी. जिसे इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ख़ारिज कर दिया है. यह याचिका नंदिता ठाकुर की ओर से दायर की गयी थी, जिसको लेकर अदालत में सुनवाई हुई. याचिकर्ता ने मांग की थी कि अदालत आयोग बनाकर सिटिंग जज या रिटायर्ड जज न्यायिक जांच कराए.
वहीं सरकार की तरफ से अदालत में कहा गया कि रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में जांच आयोग का गठन किया गया है. सीनियर आईएएस की अध्यक्षता में एसआईटी बना दी गयी है. मामले के जांच शुरू हो चुकी है. दोनों पक्षों को सुनने के बाद जस्टिस पंकज जायसवाल और जस्टिस करुणेश पवार ने फैसला दिया कि एसआईटी और आयोग से कानपुर मामले जांच जारी है. याचिका ख़ारिज की जाती है.
एसटीएफ की ओर से बताया गया था कि जब विकास को कानपुर लाया जा रहा था तभी रस्ते में जानवरों का एक झुण्ड आ गया जिसे बचाने के प्रयास में गाड़ी पलट गयी. इस मौके का फायदा उठाकर विकास दुबे ने भागने का प्रयास किया. इस बीच हुई मुठभेड़ में वह मारा गया.
पूछताछ में किया कई बातों का खुलासा 
बताया जा रहा है कि पूछताछ में विकास दुबे ने कई राज उगले थे. जिसके आधार पर कई नेताओं की भी सीडीआर खंगाली जा रही है. एससीटीएफ ये पता करने की कोशिश कर रही है कि वारदात के बाद वो किन-किन के संपर्क में रहा. सूत्रों के मुताबिक वह दो बड़े अधिकारीयों के भी सम्पर्क में था.
The post विकास दुबे एनकाउंटर की न्यायिक जांच की मांग याचिका पर हाईकोर्ट का फैसला appeared first on AKHBAAR TIMES.