CM बनने की जिद पर अड़े सचिन पायलट, शीर्ष नेतृत्व के सामने रखी ये शर्त

Share and Spread the love

IMAGE CREDIT-GETTYराजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर आया सियासी संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार बागी रुख अपनाए डिप्टी सीएम सचिन पायलट अब अशोक गहलोत को सीएम मानने को तैयार नहीं है. वह खुद या किसी तीसरे व्यक्ति को सीएम बनाने की मांग पर अड़े हुए हैं.
उधर दूसरी ओर सचिन पायलट और कांग्रेस नेतृत्व के बीच बातचीत का सिलसिला टूट गया है. सचिन ने एक शर्त रखी जिसके बाद बातचीत खत्म हो गई उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व की ओर से सार्वजनिक रुप से कम से कम ये घोषित किया जाए कि अशोक गहलोत के बाद इसी कार्यकाल में उनको सीएम बनाया जाएगा. मतलब कुछ महीने या एक साल साल बाद उनको सूबे की कमान दे दी जाएगी.’

बताया जा रहा है कि पार्टी की तरफ से उनको अतिरिक्त या उनकी पसंद के मंत्रालय देने की पेशकश की गई है इसके अलावा उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बने रहने दिया जाएगा. लेकिन पायलट इसके बाद भी नहीं मानें हैं. मंगलवार को जयपुर में होने वाली बैठक में उनके आने की संभावना कम है.
कांग्रेस पार्टी पायलट को एक बार विधायक दल की बैठक में बुलाने का संदेश दे रही है कि अब भी समय है वे पार्टी में वापस आ सकते हैं. पार्टी सूत्रों का मानना है कि जितना लचीलापन सचिन पायलट के लिए दिखाया जा रहा है. उतना गांधी परिवार ने किसी और के लिए नहीं दिखाया है.
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी एक बार सचिन पायलट से बात की है. वहीं प्रियंका गांधी 4 बार, अहमद पटेल 15 बार, पी चिदंबरम ने लगभग 6 बार और केसी वेणुगोपाल ने 3 बार बात की है. इतना सबकुछ करने के बाद भी सचिन पायलट नहीं मानें हैं.
The post CM बनने की जिद पर अड़े सचिन पायलट, शीर्ष नेतृत्व के सामने रखी ये शर्त appeared first on AKHBAAR TIMES.