विकास दुबे की जगह लेना चाहता था प्रभात मिश्रा, विकास का बेहद करीबी बन गया था

Share and Spread the love

विकास दुबे की अपराध की दुनिया काफी फैली हुई थी. उसके गैंग में कई युवा भी शामिल थे. ऐसा ही एक नाम है प्रभात मिश्रा का. जानकारी में अब सामने आ रहा है कि प्रभात विकास दुबे की जगह लेने का सपना देख रहा था. हालांकि प्रभात का भी एनकाउंटर हो चुका है.
प्रभात को फायरिंग करने में कोई हिचक नहीं थी. वह विकास दुबे से काफी प्रभावित था. उसी के रास्ते पर वह भी आगे बढ़ रहा था. पकड़े गए शशिकांत ने पुलिस की पूछताछ में इस बात का खुलासा किया है.
शशिकांत ने बताया कि घर में डेयरी का काम होता है. वह आसपास के गांवों में दूध सप्लाई का काम करता है. विकास के संपर्क में आने के बाद उसका अपने काम में दिमाग कम बल्कि दबंगई में ज्यादा रहता था. डेयरी की आड़ में प्रभात ने तमंचा बनाना सीख लिया था. बेहद कम समय में ही वह विकास के बेहद करीब आ गया था.
बिकरू गांव की वारदात में प्रभात भी शामिल था. गौरतलब है कि पुलिस विकास के साथियों और करीबियों की लगातार जांच कर रही है. वहीं शशिकांत ने बताया कि प्रभात के घर से पुलिस पर पहली गोली चली थी. शशिकांत के मुताबिक पुलिस पर हमले में विकास के साथ, अमर, अतुल, प्रेमप्रकाश, प्रभात, बउवन, हीरू, शिवम, जिलेदार, राम सिंह, उमेश चन्द्र, गोपाल, अखिलेश, बिपुल, श्यामू, राजेन्द्र, बाल गोविंद, दयाशंकर शामिल थे.
The post विकास दुबे की जगह लेना चाहता था प्रभात मिश्रा, विकास का बेहद करीबी बन गया था appeared first on AKHBAAR TIMES.