26 में सांसद, 32 में मंत्री, 40 में डिप्टी सीएम, सचिन को कांग्रेस ने क्या नहीं दिया?

Share and Spread the love

कांग्रेस नेता सचिन पायलट को कांग्रेस से बगावत का खामियाजा भुगतदना पड़ रहा है. उन्हे कांग्रेस ने डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया है. विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सचिन पायलट के ऊपर हुई कार्रवाई की जानकारी दी. सचिन के खिलाफ एक्शन की जानकारी देते हुए सुरेजेवाला ने तीखे अंदाज में कहा कि सचिन को इतनी कम उम्र में पार्टी ने बहुत कुछ दिया है
जयपुर में मुख्यमंत्री आवास में बैठक के बाद सुरजेवाला ने कहा कि हमें खेद है कि सचिन पायलट और उनके सहयोगी विधायक बीजेपी के जाल में फंस गए हैं वो कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश रच रहे हैं.
image credit-gettyसुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस नेतत्व ने सचिन से कई बार संपर्क करने की कोशिश की इस दौरान लगभग आधा दर्जन बार सचिन पायलट से बातचीत की. कांग्रेस वर्किंग कमेची के सदस्यों ने सचिन से दर्जनों बार बातचीत की. कहा कि सोनिया जी, राहुल जी की ओर से हम लोगों ने अपील भी कि सारे दरवाजे खुले हुए हैं, मतभेद है तो आईये बात कीजिए, हम बैठकर मामले को सुलझा लेंगे.
IMAGE CREDIT-GETTYइस दौरान कांग्रेस मीडिया प्रभारी की ओर से सचिन पायलट को पार्टी द्वारा दी गई जिम्मेदारियों का भी हवाला दिया गया. उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को छोटी उम्र में जो राजनीतिक ताकत दी गई. शायद वो किसी को नहीं मिली. साल 2003 में वो राजनीति में आए, 26 साल की उम्र में कांग्रेस ने उन्हें सांसद बना दिया.
32 साल की उम्र में वो केंद्र सरकार में मंत्री बनें. 34 की उम्र में प्रदेश अध्यक्ष बना दिया. 40 साल की उम्र में डिप्टी सीएम बना दिया. सोनिया गांधी और राहुल गांधी का व्यक्तिगत आशीर्वाद हमेशा से ही उनके साथ रहा. इतना सबकुछ मिलने के बाद भी उन्होंने कांग्रेस सरकार को गिराने में हिस्सा लिया. जो बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इसलिए ही उन्हें डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाने का फैसला किया गया है.
The post 26 में सांसद, 32 में मंत्री, 40 में डिप्टी सीएम, सचिन को कांग्रेस ने क्या नहीं दिया? appeared first on AKHBAAR TIMES.