सुनीता यादव का बड़ा बयान, पहले मुझे लगता था कि खाकी पुलिस की वर्दी में ताकत है लेकिन इस घटना के बाद..

Share and Spread the love

image credit-social mediaगुजरात में सत्तारुढ़ दल के एक मंत्री के बेटे को लाकडाउन के उल्लंघन को लेकर आड़े हाथों लेने वाली कांस्टेबल सुनीता यादव ने कहा है कि वो लेडी सिंघम नहीं हैं. इस दौरान सुनीता यादव ने दावा किया कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है और वह आईपीएस बनना चाहती है. कहा कि वो कोई लेडी सिंघम नहीं है.
मैं साधारण एलआर अधिकारी हूं. मैंने सिर्फ अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है. लोग ऐसा कहते हैं क्योंकि बहुत से पुलिसकर्मी ऐसा नहीं करते हैं. हालांकि लोगों ने मेरा समर्थन किया.
image credit-social mediaबकौल सुनीता यादव पहले मुझे लगता था कि खाकी पुलिस की वर्दी में ताकत है. लेकनन इस घटना ने सबक सिखाया है कि ताकत तो रैंक में होती है, इसलिए मैं अब आईपीएस की तैयारी करना चाहती हूं. मैं रैंक के साथ वापस आना चाहती हूं. इसृ मुद्दे को आसानी से हल किया जा सकता था लेकिन इसे च्यूइंगम की तरह बढ़ाया जा रहा है क्योंकि मेरे पास रैंक नहीं हैं.
इंडिया टुडे टीवी पर दिए गए बयान में सुनीता यादव ने कहा कि जरुरी वजह हो तो कर्फयू के दौरान आने जाने की अनुमति है लेकिन इन लोगों के पास कोई वाजिब वजह नहीं ती. उन्होंने मुझसे सारी कहते हुए माफी मांगी. मैंने भी उन्हें बिना सजा दिए जाने के बारे में सोचा, लेकिन कानून के अनुसार मुझे कुछ करना था. मेरे पास चालान या स्लिप नहीं थी इसलिए मैंने सोचा कि कानून के उल्लंघन के लिए कुछ डांट फटकार ही ठीक रहेगी.
The post सुनीता यादव का बड़ा बयान, पहले मुझे लगता था कि खाकी पुलिस की वर्दी में ताकत है लेकिन इस घटना के बाद.. appeared first on AKHBAAR TIMES.