कभी जमीं पर संघर्ष किया नहीं, बाप की विरासत पर मंत्री बन गएं, संघर्ष का वक्त आया तो भाग गए..

Share and Spread the love

image credit-social mediaभारत की राजनीति में पिछले काफी समय में परिवारवाद के प्रति विरोध के स्वर उठे हैं. खासकर कांग्रेस जैसे विश्वस्तरीय दल जहां अलग-अलग क्षेत्रों के नेताओं के बाद उनके बेटे और बेटियां सियासत में उतरे. खुद गांधी परिवार को ही देखा जाएं तो इसमें भी परिवारवाद का पुराना इतिहास रहा है.
हालांकि अब देखने में आया है कि कांग्रेस में परिवारवाद के जरिए एंट्री करने वाले युवा नेता ही पार्टी के खिलाफ ही बगावत करने पर उतर आए हैं. इसकी शुरुआत ज्योतिरादित्य सिंधिया से हुई इसके बाद जितिन प्रसाद और अब सचिन पायलट भी पार्टी के बागी नेता कहे जाने लगे हैं. इस बीच सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रही हैं. जिसमें तब के कांग्रेस नेता और युवा नेता एक साथ दिखाई दे रहे हैं.
ट्विटर पर ये फोटो आशुतोष मिश्रा के अकाउंट से पोस्ट की गई है इस तस्वीर में सचिन पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया, आरपीएन सिंह, मिलिंद देवड़ा, और जितिन प्रसाद दिखाई दे रहे हैं. सिंधिया, जितिन प्रसाद, सचिन पायलट, मिलिंद देवड़ा जैसे युवा नेता अपने ही पार्टी के खिलाफ बयान देने के कारण चर्चा में आ चुके हैं.
इस पर मोहम्मद इरफान नाम के एक यूजर ने कहा कि इन लोगों ने कभी संघर्ष नहीं किया सिर्फ पिता की मिली विरासत के बल पर मिनिस्टर बन गए जब अब संघर्ष का टाइम आया तो सब भाग गए.
ट्विटर यूजर @ILLAHABAD ने कहा ये सभी परिवारवाद की उपज हैं. जिनकी महत्वाकाक्षाएं ज्यादा है. इनमें से कई लोग जल्द ही पार्टी को छोड़ देंगे. वहीं, @basir-sk ने फोटो पर अपने कमेंट को इस तरह जाहिर किया. जैसे मिलिंद देवड़ा सचिन पायलट से कुछ कह रहे थे. उन्होंने लिखा कि जब तक बाप के नाम से मिनिस्टर हैं तब तक पार्टी में हूं. जब खुद की मेहनत से मिनिस्टर बनने के लिए बोला तब बोल दिया-चलिए मेहनत को वणक्कम.

Whoever shot this….. pic.twitter.com/P2mWjDguNS
— ASHUTOSH MISHRA (@JournoAshutosh) July 18, 2020

Whoever shot this….. pic.twitter.com/P2mWjDguNS
— ASHUTOSH MISHRA (@JournoAshutosh) July 18, 2020
6ो
 
The post कभी जमीं पर संघर्ष किया नहीं, बाप की विरासत पर मंत्री बन गएं, संघर्ष का वक्त आया तो भाग गए.. appeared first on AKHBAAR TIMES.