मायावती के करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की विधान परिषद सदस्यता हुई रद्द, ये रही वजह

Share and Spread the love

बहुजन समाज पार्टी के पूर्व नेता और एक समय मायावती के काफी करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की विधान परिषद की सदस्यता रद्द हो गई है. उनकी सदस्यता रद्द करने के लिए बहुजन समाज पार्टी की ओर से अर्जी दी गई थी. दल बदल कानून के तहत उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया.
नसीमउद्दीन सिद्दीकी बसपा को छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. बसपा नेता सुनील चित्तौड़ की ओर से सिद्दीकी की सदस्यता रद्द करने के लिए सभापति को याचिका दी गई थी. दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद सभापति ने नसीमउद्दीन की सदस्यता रद्द कर दी. सिद्दीकी 22 फरवरी 2018 को बसपा छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ले ली थी.

बता दें कि नसीमउद्दीन जब बसपा में थे तो वो मायावती के काफी करीबी माने जाते थे. उन्होंने साल 1988 से अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की थी. पहले उन्होंने बांदा नगर निगम के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था लेकिन हार गए. इसके बाद वो बसपा में शामिल हो गए.
1991 में वो बसपा की ओर से पहले मुस्लिम विधायक बने. 1995 में मायावती के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्हें कैबिनेट मंत्री बना दिया. इसके बाद 1997, 2002 और 2007 से 2012 तक बसपा सरकार में मंत्री रहे. कुछ अनबन होने के बाद 2018 में उन्होंने बसपा छोड़ दी.
The post मायावती के करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की विधान परिषद सदस्यता हुई रद्द, ये रही वजह appeared first on AKHBAAR TIMES.