विकास दुबे मामले के बाद अतीक अहमद पर पुलिस ने कसा शिकंजा, छापेमारी में असलहे बरामद

Share and Spread the love

कानपुर के विकास दुबे मामले के बाद अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बाहुबलियों के खिलाफ शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में प्रयागराज के बाहुबली नेता और पूर्व सांसद अतीक अहमद के नेटवर्क को भी पुलिस ने तोड़ना शुरू कर दिया है.
अतीक अहमद इन दिनों गुजरात की अहमदाबाद जेल में हैं. इसके बावजूद उनके गुर्गे लगातार सक्रिय हैं. पुलिस अब पूरे नेटवर्क को ध्वस्त करने की कार्रवाई में जुट गई है. पुलिस ने अतीक अहमद के चकिया स्थित कार्यालय पर छापेमारी कर दो लाइसेंसी असलहे बरामद किए हैं. इनमें एक पिस्टल और एक रायफल है.
जांच में पता चला है कि इन दोनों असलहों के लाइसेंस साल 2017 में पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर जिलाधिकारी ने निरस्त कर दिए थे. लाइसेंस कैंसिल होने के बावजूद उन असलहों को अब तक जमा नहीं कराया था.

प्रयागराज एसएसपी अभिषेक दीक्षित ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार अपराधी किस्म के लोगों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है. अतीक अहमद की बेनामी संपत्तियों का भी पता लगाया जा रहा है. उनके गैंग के अन्य लोगों के भी असलहे लाइसेंस निरस्त करने का काम किया जा रहा है.
बता दें कि कानपुर में विकस दुबे मामला सामने आया तो पुलिसिया कार्यप्रणाली की पोल भी खुल गई. जांच में पता चला कि विकास दुबे को पुलिस की मदद करती थी. उसके खिलाफ मामले ही नहीं दर्ज किए जाते थे. थाने में उसकी मर्जी के मुताबिक कामकाज होता था.
The post विकास दुबे मामले के बाद अतीक अहमद पर पुलिस ने कसा शिकंजा, छापेमारी में असलहे बरामद appeared first on AKHBAAR TIMES.