बिहार चुनाव से पहले कांग्रेस में बगावती सुर बुलंद, राजद से गठबंधन को लेकर भी उठे सवाल

Share and Spread the love

देश की सबसे पुरानी राजनीति पार्टी कांग्रेस इस समय अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. मध्यप्रदेश और राजस्थान के बाद अब बिहार कांग्रेस में भी रार मचनी शुरू हो गई है. बिहार विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन में शुरू हुई सियासी खींचातानी चल ही रही थी कि अब बिहार कांग्रेस के भीतर भी बगावती सुर उठने लगे हैं. पिछड़े वर्ग के नेताओं ने पार्टी पर अपने समुदाया की उपेक्षा का आरोप मढ़ दिया.
कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कैलाश पाल ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया. बताया जा रहा है कि 15 जुलाई को कार्यसमिति की बैठक उन्होंने पिछड़ों की उपेक्षा का मुद्दा उठाना चाहा था मगर उन्हें बोलने से रोक दिया गया. इसी नाराजगी के चलते उन्होंने ये फैसला लिया है.

कैलाश पाल ने समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा कि बिहार में कांग्रेस की जो स्थिती है उसका बड़ा कारण पिछड़ों की उपेक्षा ही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ये नहीं भूलना चाहिए कि मुस्लिम-यादव मतदाताओं के जरिए ही राजद 15 सालों तक सत्ता में थी.
बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विजय शंकर मिश्र ने कैलाश के आरोपों को नकारते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी सभी समुदायों को साथ लेकर चलने पर विश्वास रखती है.
The post बिहार चुनाव से पहले कांग्रेस में बगावती सुर बुलंद, राजद से गठबंधन को लेकर भी उठे सवाल appeared first on AKHBAAR TIMES.