5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन से पहले शुरू हुआ नया विवाद, शंकराचार्य ने…

Share and Spread the love

अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर के भूमि पूजन पर विवाद खड़ा हो गया है. सालों चली कानूनी लड़ाई के बाद अदालत ने राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया तो इसके बनने की राह आसान हो गई. तय हुआ कि 5 अगस्त को इसका भूमि पूजन होगा और पीएम मोदी मंदिर की आधारशिला रखेंगे.
भूमि पूजन की तिथि की घोषणा होने के बाद अब इसके शुभ मुहूर्त को लेकर दो राय बन गई है. शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने इस मुहूर्त को अशुभ बता दिया है.
उन्होंने कहा है कि ये चाह नहीं है कि कोई हमें ट्रस्टी या पदाधिकारी बनाए. हम तो राम भक्त हैं.राम मंदिर कोई भी बनाए और सही ढंग से बना तो हमें प्रसन्नता होगी. मगर ये सब कार्य उचित समय और शुभ मुहूर्त में होना चाहिए. जिस मुहूर्त में ये हो रहा है वो अशुभ घड़ी है.

शंकराचार्य ने कहा कि 5 अगस्त को दक्षिणायन भाद्रपक्ष कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि पड़ रही है. शास्त्रों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि ये समय गृह और मंदिर की स्थापना के लिए निषिद्ध है.
मुहूर्त को लेकर उठ रहे विवाद को लेकर रामनारायण द्विवेदी ने कहा कि ये भूमि पूजन राम मंदिर का है, इसका शिलान्यास स्वयं देश के राजा करेंगे. ऐसे में मुहूर्त मायने नहीं रखता.

ये चाह नहीं है कि हमें कोई ट्रस्टी या पदाधिकारी बनाया जाए। हम तो राम भक्त हैं। राम मंदिर कोई भी बनाता है सही ढंग से बनाता है तो हमें प्रसन्नता होगी पर ये सब उचित तिथि और उचित मुहुर्त में होना चाहिए। जिस मुहुर्त में ये हो रहा है ये अशुभ घड़ी है: शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती pic.twitter.com/GtpA0k8JR6
— ANI_HindiNews (@AHindinews) July 23, 2020

The post 5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन से पहले शुरू हुआ नया विवाद, शंकराचार्य ने… appeared first on AKHBAAR TIMES.