संजीत अपहरण केसः फिरौती देने के बाद भी हत्या, दोस्तों ने ही ऐसी रची थी पूरी साजिश, किया खुलासा

Share and Spread the love

image credit-social mediaकानपुर में जून के महीने में अपह्त पैथोलाजी कर्मी संजीत यादव की दोस्तों ने ही मिलकर हत्या कर दी और शव को पांडु नदी में फेंक दिया. गुरुवार रात को पुलिस ने दो दोस्तों समेत चार युवकों और एक युवती को हिरासत में लिया है. पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में आरोपियों ने अपने गुनाह को कबू कर लिया है. हालांकि अभी तक पुलिस शव की बरामदगी नहीं कर पाई इसलिए हत्या की पुष्टि भी पुलिस की ओर से नहीं की जा रही है.
इस बीच सुबह से लेकर शाम तक गोताखोरों की मदद से पीएसी ने पांडु नदी के किनारे शव की घंटो तलाश की. देर रात पीएसी की ओर मोटरबाइक मंगाकर तलाशी शुरु की गई, लेकिन अभी तक किसी प्रकार का कोई सुराग नहीं मिला है.
पुलिस की मानें बर्रा-5 एलआईजी कालोनी निवासी 27 साल संजीत यादव का अपहरण 26 जून की रात दोस्तों ने पैथोलाजी जाते समय किया था, वह बर्रा की दूसरी पैथोलाजी में काम करता था. साथ में नौकरी ककरने वाले युवकों से उसकी दोस्ती हो गई. काल डिटेल से पुलिस को कई अहम सुराग मिले हैं.
पूछताछ के दौरान दोस्तों ने बताया कि संजीत का अपहरण पैसे के लालच में किया था उसकी अपनी पैथोलाजी लैब खोलने की योजना थी. उसने ही बताया था कि कुछ पैसा जुटाने के बाद और गांव की जमीन को गिरवी पर रखकर बैंक से लोन लेने की बात रखी थी. इसी से संजीत का अपहऱण करके फिरौती मांगने का ख्याल आया.
दोस्तों ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर इस प्लान को बनाया और इस दौरान दो सिमकार्ड दुकान से खरीदे और फोन करके 30 लाख रुपये की मांग की, लेकिन दोस्तों ने फिरौती की रकम मिलने से इंकार कर दिया है.
The post संजीत अपहरण केसः फिरौती देने के बाद भी हत्या, दोस्तों ने ही ऐसी रची थी पूरी साजिश, किया खुलासा appeared first on AKHBAAR TIMES.