संजीत यादवः सपा मुखिया अखिलेश यादव और प्रसपा नेता शिवपाल यादव की योगी सरकार से ये मांग

Share and Spread the love

image credit-akhbaar timesकानपुर में जून के महीने में अपह्त पैथोलाजी कर्मी संजीत यादव की दोस्तों ने मिलकर ही अपहरण कर पैसा ऐंठने की साजिश रची इसके बाद उसकी हत्या कर शव को पांडु नदी में बहा दिया. गुरुवार रात पुलिस नेदो दोस्तों समेत चार युवक और एक युवती को हिरासत में लिया, हिरासत में लेने के बाद पूछताछ में सभी ने अपने द्वारा किए गए गुनाह को कबूल कर लिया है.
हालांकि पुलिस अभी तक शव को बरामदगी नहीं कर पाई है जिस कारण पुलिस की ओर से आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. इस बीच सुबह से लेकर शाम तक पीएसी गोताखोरों की मदद से शव को ढूढ़ती हुई नजर आई. देर रात पीएसी की ओर से मोटरबाइक की मदद से तलाशी शुरु की गई लेकिन पुलिस को अभी तक सफलता नहीं मिल पाई है.
अब इस मामले में यूपी सरकार विपक्ष के निशाने पर गई है, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि कानपुर(बर्रा) से अपहृत युवक संजीत यादव की अपहरणकर्ताओं द्वारा निर्मम हत्या कर दी गई है.
उप्र का शासन व पुलिस प्रशासन दोनों अपहरण के 31वें दिन तक इस मामले में अक्षम व निष्क्रिय साबित हुए हैं?
@UPGovt मृतक के परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता व एक सदस्य को नौकरी प्रदान करे.
वहीं समाजवादी पार्टी के आधिकारिक पेज से ट्वीट किया गया जिसमें लिखा गया कि कानपुर से 22 जून को अपहृत युवक संजीत यादव की हत्या समूची कानून व्यवस्था की हत्या है! 1 महीने से निष्क्रिय सरकार का भ्रष्ट तंत्र सिर्फ विपक्षियों को फंसाने के लिए? अपराधियों को पकड़ने के लिए मुख्यमंत्री ने क्या रणनीति बनायी? एकलौते पुत्र को खोने वाले पीड़ित परिवार को मिले मुआवजा.
गुरुवार को ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस मामले में सरकार को घेरते हुए कहा था कि कानपुर से अपहृत युवक का अब तक कोई पता नहीं चला है. उप्र का शासन एवं पुलिस प्रशासन दोनों इस मामले में पूरी तरह से निष्क्रिय क्यों हैं? आशा है युवक सही सलामत अपने परिवार तक पहुँच पायेगा.ये अपहरण भाजपा के राज के शर्मनाक क्षरण का प्रतीक है.

कानपुर से अपहृत युवक का अब तक कोई पता नहीं चला है. उप्र का शासन एवं पुलिस प्रशासन दोनों इस मामले में पूरी तरह से निष्क्रिय क्यों हैं? आशा है युवक सही सलामत अपने परिवार तक पहुँच पायेगा.
ये अपहरण भाजपा के राज के शर्मनाक क्षरण का प्रतीक है.#NoMoreBJP
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) July 23, 2020

कानपुर(बर्रा) से अपहृत युवक संजीत यादव की अपहरणकर्ताओं द्वारा निर्मम हत्या कर दी गई है।
उप्र का शासन व पुलिस प्रशासन दोनों अपहरण के 31वें दिन तक इस मामले में अक्षम व निष्क्रिय साबित हुए हैं? @UPGovt मृतक के परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता व एक सदस्य को नौकरी प्रदान करे।
— Shivpal Singh Yadav (@shivpalsinghyad) July 24, 2020

The post संजीत यादवः सपा मुखिया अखिलेश यादव और प्रसपा नेता शिवपाल यादव की योगी सरकार से ये मांग appeared first on AKHBAAR TIMES.