दिल्ली में राष्ट्रपति भवन पहुंच सकता है राजस्थान का सियासी घमासान

Share and Spread the love

राजस्थान में जारी सियासी घमासान अब दिल्ली भी पहुंच सकता है. राजभवन में अगर अशोक गहलोत समर्थक विधायकों के धरना देने के बाद भी उन्हें लगता है कि उनकी मांग को नजरअंदाज किया जा रहा है तो फिर वे दिल्ली का रुख कर सकते हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके गुट के विधायक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सामने अपनी मांग रखेंगे.
यही नहीं गहलोत समर्थक विधायक सड़क पर भी उतरने की योजना बना रहे हैं. राजस्थान हाईकोर्ट से निराशा मिलने के बाद विधायक राजभवन पहुंचे हैं. गहलोत और उनके समर्थक विधायकों की मांग है कि राज्यपाल द्वारा विधानसभा सत्र बुलाया जाए.
राजभवन पहुंचे गहलोत समर्थक विधायकों से राज्यपाल कलराज मिश्रा ने मुलाकात की है. उन्होंने कहा कि आपकी मांग हमने सुन ली है. पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. संवैधानिक संस्थाओं का टकराव नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि विचार-विमर्श के लिए वक्त चाहिए.
वहीं राजभवन पहुंचे गहलोत समर्थक विधायकों ने नारेबाजी भी की. विधायकों ने अशोक गहलोत के समर्थन में नारे लगाए. इस बीच गहलोत सरकार ने कहा है कि कैबिनेट ने प्रस्ताव पास कर दिया है, तो राज्यपाल को विधानसभा का सत्र बुलाना ही होगा. केंद्र सरकार लोकतंत्र का गला घोटना चाहती है.
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कोई भी विधायक कोरोना पॉजिटिव नहीं है. इससे पहले राज्यसभा चुनाव में कोविड पॉजिटिव विधायकों ने वोट दिया था.
The post दिल्ली में राष्ट्रपति भवन पहुंच सकता है राजस्थान का सियासी घमासान appeared first on AKHBAAR TIMES.