राजस्थान में इस दिन बुलाया जा सकता है विधानसभा सत्र, राज्यपाल के पास क्या है विकल्प?

Share and Spread the love

IMAGE CREDIT-TWITERराजस्थान में जारी सियासी संकट के बीज एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है कि सीएम अशोक गहलोत द्वारा 31 जुलाई को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का प्रस्ताव राज्यपाल के पास भेजा गया है. ये खबर एबीपी न्यूज के हवाले से सामने आई है,.
गौरतलब है कि इससे पहले भी गहलोत विधानसभा का सत्र बुलाने का प्रस्ताव राज्यपाल को भेज चुके हैं लेकिन अभी तक राज्यपाल ने मंजूरी नहीं दी थी, जिसके बाद अशोक गहलोत के नेतृ्त्व में कांग्रेस विधायकों ने राजभवन में धरना दिया था.
ऐसे में अब ये सवाल उठ रहा है कि क्या राज्यपाल कैबिनेट की सलाह पर सत्र बुलाएंगे या फिर अपने विवेक से कोई फैसला ले सकते हैं? राजस्थान के सियासी संकट के बारे में संविधान के जानकारों का मानना है कि संविधान के मुताबिक राज्यपाल को कैबिनेट की सलाह मानना बाध्यकारी है.
image credit-getty imagesलेकिन जब इस तरह के विवाद हों कि सीएम के पास इतने विधायकों का समर्थन हैं तो ऐसे में राज्यपाल राजभवन बुलाकर बात कर सकते हैं.
कांग्रेस ने कहा कि जो बीजेपी द्वारा संविधान और लोकतंत्र विरोधी कदम उठाए जा रहे हैं, इन कदमों के खिलाफ आगामी 27 जुलाई को सभी प्रदेशों के राजभवनों में कांग्रेस धरना प्रर्दशन करेगी.
वहीं बीजेपी की ओर गुलाब चंद्र कटारिया ने शनिवार को राज्यपाल के साथ भेंट कर कहा था कि मुख्यमंत्री सूबे के मुखिया हैं, उन्होंने कहा था कि कानून और न्याय व्यवस्था का सूबे में उल्लंघन हुआ तो वह जिम्मेदार नहीं होंगे, अगर वो जिम्मेदार नहीं होंगे तो कौन होगा? सीएम को इस तरह की भाषा इस्तेमाल करने के लिए इस्तीफा दे देना चाहिए.
The post राजस्थान में इस दिन बुलाया जा सकता है विधानसभा सत्र, राज्यपाल के पास क्या है विकल्प? appeared first on AKHBAAR TIMES.