पिता मुलायम की राह पर चले अखिलेश, अति पिछड़े समुदाय को लुभाने के लिए खेला ये कार्ड!

Share and Spread the love

उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अभी से ही रणनीति बननी शुरु कर दी है, इसके तहत अभी से उन्होंने राजनीतिक गोटियां बिछानी शुरु कर दी है. सपा की नजर अब सूबे के अतिपिछड़े समुदाय के वोटों पर है, जिसके सहारा मुलायम सिंह यादव पहले भी सूबे के सिंहासन पर विराजमान होते हुए दिखाई दिए हैं.
अखिलेश यादव भी अपने पिता मुलायम सिंह .यादव के नक्शेकदम पर चलते हुए दिखाई दे रहे हैं. इसी सियासी फार्मूले के तहत वो भी उस सिंहासन को पाना चाहते हैं जो मुलायम सिंह ने किया था, इसी के तहत 25 जुलाई को पूर्व सांसद फूलन देवी की पुण्यतिथि पर अखिलेश ने सिर्फ श्रद्धांजलि ही अर्पित नहीं की बल्कि उनके जीवन पर आधारित के वृत्तचित्र के प्रोमो को भी साझा किया.

इसको साझा कर एक राजनीतिक संदेश देने की कोशिश की गई. इतना ही सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने विभिन्न जिलों में फूलन देवी को श्रद्धांजलि अर्पित की.सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्विटर पर फूलन देवी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एक बयान को पोस्ट किया इसके साथ ही उनके जीवन पर बनी डाक्यूमेंट्री फिल्म के प्रोमो को भी ट्वीट किया.
प्रोमो में फूलन देवी को एक ऐसी महिला के तौर पर दिखाया गया है जो अति पिछड़ी जाति में पैदा हुई थी जिसे बिना किसी अपराध के ही मानसिक और शारीरिक पी़ड़ा झेलनी पड़ी.
गौरतलब है कि फूलन देवी को राजनीतिक सीढी प्रदान करने वाले मुलायम सिंह यादव ही थे, जिनको साल 1996 में मिर्जापुर में समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ाया और संसद के दहलीज पर भेजा था. फूलन देवी जो कि मल्लाह जाति से आती हैं ऐसे में अति पिछड़े समुदाय के वोटरों पर उनकी अच्छी खासी पकड़ थी.

#PhoolanDevi pic.twitter.com/UG02xpuUqF
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) July 25, 2020

The post पिता मुलायम की राह पर चले अखिलेश, अति पिछड़े समुदाय को लुभाने के लिए खेला ये कार्ड! appeared first on AKHBAAR TIMES.