बीजेपी सांसद का झलका दर्द, कहा कोई सुनने वाला नही है, पैसा कहां जा रहा पता नहीं?

Share and Spread the love

image credit-social mediaयूपी के हरदोई से बीजेपी विधायक और सांसद आजकल अपनी पीडा को फेसबुक के जरिए बयां कर रहे हैं. विधायक और सांसद फेसबुक यानि सोशल मीडिया के जरिए अपनी व्यथा को लिखकर लोगों के बीच पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं. हाल ही के दिनों में गोपामउ के विधायक श्याम प्रकाश ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर लिखा था कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में इतना भ्रष्टाचार नही देखा.
इसी क्रम में सांसद जय प्रकाश रावत ने भी फेसबुक के जरिए अपने दर्द का बयां किया है. सांसद जयप्रकाश ने लिखा है कि तीस वर्षों के कार्यकाल में उन्होने कभी भी ऐसी बेबसी महसूस नहीं की. दरअसल एक फेसबुक यूजर ने एक पोस्ट लिखा जिसमें उसने लिखा कि कोविड-19 के दौरान सांसद और विधायकों ने अपनी निधि का जो पैसा दिया था अगर उससे हरदोई जिला अस्पताल में एक वेंटीलेटर मशीन लग जाए तो लोगों को कोरोना के बाद आगे भी बहुत मदद मिलेगी.
IMAGE CREDIT-GETTYइस पोस्ट पर पहला कमेंट गोपामऊ से बीजेपी विधायक श्याम प्रकाश का आया. उन्होंने लिखा कि सब कमीशनखोरी की भेंट चढ़ गया. इसके बाद सांसद जयप्रकाश ने लिखा कि मैंने अपनी निधि इसी शर्त पर दी थी कि वेंटीलेटर खरीदा जाए. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. लेकिन पैसा कहां गया पता नहीं.
इसके बाद यूजरों के कमेंट की बाढ़ सी आ गई. सांसद ने लिखा के मुझे खुद पर शर्म आती है क्योंकि बीजेपी विधायक और सांसद की कोई सुनने वाला नहीं हैं. सांसद ने कहा कि जब ऊपर से आदेश होगा कि अधिकारी अपने विवेक से काम करें तो हमारी कौन सुनेगा. कहा कि हमने अपने तीस साल के कार्यकाल में ऐसी बेबसी कभी महसूस नहीं की.
विधायक और सांसद की पीड़ा को सुनकर कई यूजरों ने लिखा कि अगर अधिकारी आप की बात नहीं सु रहे हैं तो आप इस्तीफा क्यों नहीं दे देते? क्या फायदा विधायकी का? जनता तड़प रही है और आप मजबूर हैं.
The post बीजेपी सांसद का झलका दर्द, कहा कोई सुनने वाला नही है, पैसा कहां जा रहा पता नहीं? appeared first on AKHBAAR TIMES.