धोनी ने कहा- मैं भी दबाव महसूस करता हूँ, मुझे भी डर लगता है

Share and Spread the love

पूर्व भारतीय कप्तान महेद्र सिंह धोनी को ‘कैप्टन कूल’ के नाम से भी जाना जाता है. ज्यादातर मौके पर देखा गया कि मैच में कैसी भी परिस्थिति क्यों न आए वह शांत स्वाभाव के साथ अपनी रणनीति को अंजाम देते नजर आते हैं. हालांकि धोनी ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि उन पर भी दबाव का असर होता है और उन्हें भी डर लगता है.
मानसिक स्वास्थ्य के एक कार्यक्रम में महेंद्र सिंह धोनी ने साफ़ शब्दों में कहा कि खेल चाहे कोई भी क्यों न हो खिलाड़ियों पर दबाव हमेशा रहता है और इस दबाव के कारण कई बार खिलाड़ी पूरी तरह से टूट जाते हैं. ऐसे वक्त में अगर सबसे ज्यादा कोई काम आता है तो वो है मैंटल कंडीशनिंग कोच.
धोनी आगे इस बारे में कहते हैं कि भारत में आज भी मैंटल हेल्थ पर बात करने को लोग मानसिक बीमारी समझते हैं और इसे ज्यादातर नकारात्मक और पर्यावाची समझा जाता है. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि भारत में अब भी यह स्वीकार करना बड़ा विषय है कि मानसिक पहलु को लेकर कोई कमजोरी है. लेकिन आमतौर पर हम इसे मानसिक बीमारी कहते हैं.
धोनी ने बताया कि कोई भी असल में यह नहीं कहता कि जब मैं बल्लेबाजी के लिए जाता हूँ तो पहली 5-10 गेंद तक मेरे दिल की धड़कन बढ़ी होती हैं. मैं दबाव महसूस करता हूं. मैं थोड़ा डरा हुआ भी होता हूं, क्योंकि सभी इसी तरह महसूस करते हैं. उन्होंने कहा कि यह एक छोटी सी समस्या है, लेकिन कई बार हम कोच को बताने में हिचकते हैं. यही कारण है कि किसी भी खेल कोच और खिलाड़ी का रिश्ता अहम होता है.
पूर्व भारतीय कप्तान धोनी इस वक्त भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं. इंग्लैंड में खेले गए वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल मुकाबला ही धोनी का आखिरी मैच था. इसके बाद से उन्होंने कोई मैच नहीं खेला है. आईपीएल में वह वापसी करने वाले थे.
The post धोनी ने कहा- मैं भी दबाव महसूस करता हूँ, मुझे भी डर लगता है appeared first on AKHBAAR TIMES.